Monday, March 4, 2024
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
Homeदेहरादूनपुष्कर सरकार के खिलाफ यूथ कंधो से साजिश

पुष्कर सरकार के खिलाफ यूथ कंधो से साजिश

पुष्कर सरकार के खिलाफ यूथ कंधो से साजिश Youth Protest Big News Uttarakhand: देहरादून उत्तराखंड में फिर बड़ा सवाल उठ रहा है क्या एक बार फिर पुष्कर सिंह धामी सरकार के खिलाफ आंदोलन प्रदर्शन को लेकर बड़ी साजिश को रचा गया है

 

जिस तरह से भारी संख्या में देहरादून में जुटी भीड़ देखने को मिली वो यही कहानी बया कर रही है खटीमा की राजनैतिक जमीन पर पुष्कर सिंह धामी को चुनाव हरवाने वाली राजनैतिक कदमताल क्या एक बार फिर धामी सरकार के खिलाफ साजिश रचे जाने में कामयाब रही है इसके पीछे साफ मकसद है किसी तरह पुष्कर सिंह धामी सरकार की छवि को ख़राब करते हुए यूथ को आगे कर एक माहौल बनाया जाएं फिलहाल देहरादून में हुई लाठीचार्ज की घटना को लेकर मिला जुला असर देखने को मिल रहा है।

 

मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, सुबोध उनियाल, सौरभ बहुगुणा, रेखा आर्य, गणेश जोशी ने कहा कि सरकार हर कदम पर युवाओं के साथ खड़ी है। किसी के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। कहा कि भर्ती परीक्षाओं को पारदर्शी बनाने के लिए सरकार ने कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं। पेपर लीक मामले में 55 लोगों को जेल भेजा गया। यह कठोर कदम धामी सरकार ही उठा सकती है। सीएम ने युवाओं के हित में कठोर कानून लाने का संकल्प लिया है। सरकार का प्रयास है कि जल्द से जल्द भर्ती परीक्षाओं को पारदर्शिता के साथ आयोजित किया जाए।

मंत्रियों ने पूरे घटनाक्रम के लिए विपक्ष पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि कुछ राजनीतिक दल युवाओं को भड़का रहे हैं और उनका फायदा उठाने का प्रयास कर रहे हैं। भर्ती परीक्षाओं में हुई धांधली में शामिल लोगों को विपक्ष बचाना चाहता है जिससे उनके चेहरे बेनकाब न हों। प्रदर्शन के दौरान कुछ बाहरी तत्वों ने भ्रम फैलाने के लिए पथराव किया। ऐसे लोगों को चिन्हित कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने युवाओं के आंदोलन को कांग्रेस का राजनीतिक षड्यंत्र करार दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कालखंड के भ्रष्टाचार रूपी वृक्ष को उखाड़ने के लिए प्रदेश सरकार कटिबद्ध है। कांग्रेस नहीं चाहती कि उसके कालखंड के कारनामे सार्वजनिक हों। भट्ट ने युवाओं से धैर्य बनाए रखने की अपील की। कहा कि युवाओं को भड़काने वाले और पत्थरबाजी में शामिल लोगों के नाम सार्वजनिक होने चाहिए। उत्तराखंड का युवा शांतिपूर्ण ढंग से अपनी बात को रखता है।

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

HTML tutorial

Most Popular

error: Content is protected !!