Sunday, March 3, 2024
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
Homeउत्तराखंड38वें राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी करने जा रहा प्रदेश, खिलाड़ियों के बेहतर...

38वें राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी करने जा रहा प्रदेश, खिलाड़ियों के बेहतर प्रदर्शन का इंतजार

देहरादून। उत्तराखंड अगले साल 38वें राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी करने जा रहा है। इसके लिए मैदान तैयार हैं और हर किसी को राज्य के खिलाड़ियों के बेहतर प्रदर्शन का इंतजार है। विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, राजधानी देहरादून, हरिद्वार, हल्द्वानी सहित सात स्थानों पर राष्ट्रीय खेल होने हैं। खेलों के आयोजन के लिए अवस्थापना कार्य लगभग पूरे हो चुके हैं। खेल विभाग के निदेशक जितेंद्र सोनकर बताते हैं, जो काम शेष हैं, उन्हें इस साल दिसंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। राष्ट्रीय खेलों में वर्तमान में उत्तराखंड का देशभर में 26वां स्थान हैं। पिछले साल गुजरात में हुए राष्ट्रीय खेलों में उत्तराखंड को 19 पदक मिले थे। इसमें भी स्वर्ण पदक की बात करें तो इसकी संख्या एक थी।

विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इस बार राष्ट्रीय खेलों में राज्य को टॉप टेन में शामिल कराने का प्रयास किया जा रहा। 26वें स्थान से टॉप टेन में शामिल होना विभाग के सामने चुनौती होगी। राज्य को राष्ट्रीय खेलों में एथलेटिक्स, बॉक्सिंग, कयाकिंग, कैनोइंग, बॉस्केटबॉल, वालीबॉल, बैडमिंटन, कराटे आदि प्रतियोगिताओं में पदक जीतने की उम्मीद है। खेल विभाग के अधिकारियों का कहना है, राज्य से पलायन कर दूसरे राज्यों से खेलने वाले खिलाड़ियों को उत्तराखंड से खिलाने का प्रयास किया जाएगा। राष्ट्रीय खेल देहरादून, हरिद्वार, ऋषिकेश, हल्द्वानी, रुद्रपुर, गुलरभोज व नैनीताल में होंगे। अफसरों का कहना है कि विभाग की ओर से खेलों के अनुरूप सुविधाओं का निर्माण किया जा रहा है।

वर्तमान में विभाग के पास दो अंतरराष्ट्रीय स्तर के स्टेडियम, 24 राष्ट्रीय स्तर के स्टेडियम, पांच बहुउद्देशीय खेल हॉल, 16 इंडोर हॉल, चार तरणताल, एक आइस रिंक है। इसके अलावा तीन राष्ट्रीय स्तर के स्टेडियम, छह बहुउद्देशीय खेल हॉल, तीन इंडोर हॉल, एक शूटिंग रेंज एवं एक एक्वेटिक सेंटर की स्थापना की जा रही है। प्रदेश में अगले साल राष्ट्रीय खेल होने हैं, इसी साल लोकसभा के चुनाव भी हैं। खेल विभाग के निदेशक जितेंद्र सोनकर के मुताबिक, निर्वाचन आयोग ने यदि महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कालेज, पवेलियन ग्राउंड, हल्द्वानी स्टेडियम आदि स्टेडियमों से किसी भी स्टेडियम को निर्वाचन के लिए अधिग्रहित किया, तो राष्ट्रीय खेलों का आयोजन संभव नहीं हो पाएगा।

यही वजह है कि शासन से अनुरोध किया गया है कि इन स्टेडियमों को अधिग्रहित न किया जाए। खेल विभाग के निदेशक जितेंद्र सोनकर के मुताबिक, राष्ट्रीय खेलों के लिए देहरादून, हरिद्वार, ऋषिकेश और नैनीताल में अवस्थापना सुविधाओं को लेकर सभी तैयारियों पूरी कर ली गई हैं, जबकि हल्द्वानी, रुद्रपुर और गुलरभोज में अभी कुछ काम होने हैं। रुद्रपुर में ट्रैक साइकिलिंग के लिए वेलोड्रोम का निर्माण हो रहा है। इसके लिए काम शुरू हो चुका है। वहीं, हल्द्वानी में स्वीमिंग पुल बनना है। गुलरभोज में भी कुछ काम शेष है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

HTML tutorial

Most Popular

error: Content is protected !!