छात्रवृत्ति घोटाला उधम सिंह नगर के बड़े कॉलेज भी शामिल

छात्रवृत्ति घोटाला उधम सिंह नगर के बड़े कॉलेज भी शामिल Scam Uttarakhand Udham Singh Nagar उधम सिंह नगर उत्तराखंड में छात्रवृत्ति घोटाले को लेकर जनपद उधम सिंह नगर में बड़े पैमाने पर 153 कालेजों की जांच शेष है चुनावी माहौल के बीच ये जांच कितनी जल्दी हो जाएगी इसको लेकर पुलिस लगातार जांच को तेज कर रही है उत्तराखंड में सबसे बड़ा घोटाला कांग्रेस सरकार के समय उजागर हुआ था इस मामले में अभी तक वर्ष, 2011-12 में दशमोत्तर छात्रवृत्ति में अनियमितता मिलने के बाद राज्य के अन्य जिलों के साथ ही ऊधमसिंह नगर में भी एसआइटी का गठन कर जांच शुरू कर दी थी।

पहले चरण में जिले के बाहरी राज्यों के 303 शैक्षिक संस्थान और उनमें पढ़ने वाले 3034 छात्रों की जांच की गई। अनियमितता मिलने पर एसआइटी ने 60 से अधिक केस दर्ज कर दो दर्जन से अधिक शिक्षक, बिचौलिए और जिला समाज कल्याण विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। अभी भी कई बड़ी मछलिया पुलिस की राडार पर बनी हुई है दूसरे चरण पर कारवाही को लेकर जिला उधम सिंह नगर राडार पर है यहाँ पर कई बड़े कॉलेज पुलिस की जांच में शामिल है

दूसरे चरण में जिले के 203 सरकारी, अर्द्धसरकारी तथा निजी कालेजों और उनमें छात्रवृत्ति का लाभ लेने वाले सवा लाख छात्र-छात्राओं से पूछताछ शुरू की गई थी। अब तक एसआइटी ने 50 कालेजों की जांच पूरी कर ली है। जबकि जसपुर, काशीपुर, बाजपुर, गदरपुर, रुद्रपुर, किच्छा, सितारगंज, खटीमा और नानकमत्ता के करीब 153 कालेजों की जांच शेष है। इसे देखते हुए अब जिले के इन कालेजों की जांच में तेजी लाने का प्रयास किया जा रहा है, इसके लिए एसआइटी की 9 टीम लगाई गई है। एसपी सिटी ममता बोहरा ने बताया कि 153 कालेजों की जांच शेष है। टीम लगी हुई है, जल्द ही जांच पूरी कर ली जाएगी।

error: Content is protected !!