Monday, March 4, 2024
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
Homeउत्तरकाशीऑपरेशन सिलक्यारा के नायक बने सीएम पुष्कर आत्म विश्वास हौसले से जीती...

ऑपरेशन सिलक्यारा के नायक बने सीएम पुष्कर आत्म विश्वास हौसले से जीती जंग

उत्तरकाशी सिलक्यारा टनल से 41 श्रमवीर जिंदगी की जंग जीत कर खुले आसमान में हौसले और आत्मविश्वास की बूते बाहर निकाले गए उत्तराखंड सरकार के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की जिंदगी बचाने की जंग में टीम का हौसला अफजाई किया जाना भी कई मायने में अहम कदम रखता है सिलक्यारा उत्तरकाशी की टनल में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ग्राउंड जीरो पर उतर कर जो हौसला अफजाई टीम की वो कबीले तारीफ है

राजा से ऐसी उम्मीद उनकी प्रजा करती है उस पर खरा उतर कर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की टीम ने वो कर दिखाया जिसकी मिसाल देश दुनिया ने देखी। उत्तराखंड के नायक बनकर एक बार फिर धामी ने अपना लोहा मनवाया है वो सियासत की जंग से लेकर आपदा की जंग में भी बेताज बादशाह बनकर उभरे है

उनके कुशल नेतृत्व में उत्तराखंड निवेश का माहौल देश दुनिया में पहले ही बना चूका है जिसकी अगवानी करने के लिए देश के पीएम नरेंद्र मोदी आठ दिसंबर को उत्तराखंड आ रहे है देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से खासे खुश नजर आए यह खुशी उस वक्त प्रधानमंत्री मोदी के चेहरे पर साफ तौर से देखी गई जब उत्तरकाशी की टनल से बाहर आने पर 41 जिंदगी चेहरे पर मुस्कान लिए हुए थे

17 दिनों से उत्तरकाशी की टनल में ऑपरेशन सिलक्यारा को अंजाम देने के लिए उत्तराखंड से लेकर केंद्रीय एजेंसी कई बार सूरज की किरणों के साथ उम्मीद लेकर आगे आई लेकिन आगर मशीन उम्मीद की किरणों को तरोताजा किया तो वहीं उम्मीदें उस समय चकनाचूर हो गई जब आगर मशीन अपनी उम्मीद पहाड़ की टनल में तोड़ गई

उस समय सभी के चेहरे पर मायूसी नजर आई लेकिन इस मायूसी के बाद भी उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उम्मीद नहीं छोड़ी और आत्म विश्वास और एक नए संकल्प से पूरी टीम का मनोबल बढ़ाते रहें अंदर फसे मजदूरों के मनोबल को भी बढ़ाने का काम उत्तराखंड की सरकार से लेकर तमाम टीम करती रही जिसका नतीजा टनल से जिंदगी की जंग जीत कर बाहर आने वाले श्रम वीरों के रूप में सामने है

आज पूरी देश दुनिया में उत्तराखंड से लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हर तरफ चर्चा हो रही है इस चर्चा के पीछे वजह भी साफ है की पूरी शिद्दत से उत्तरकाशी की टनल में ऑपरेशन सिलक्यारा को अंजाम दिया जा चुका है टनल से बाहर निकल गए सभी श्रमिकों को उत्तराखंड सरकार एक ₹100000 की धनराशि उपलब्ध करवाएगी साथ ही उनके परिजनों को रहने खाने की व्यवस्था के साथ-साथ घर पहुंचाने की जिम्मेदारी भी उत्तराखंड सरकार ने अपने हाथों में ली है

देवभूमि उत्तराखंड में बूढ़ी दिवाली इगास का उत्सव आज धूमधाम से मनाए जाने की तैयारियां तेज कर दी गई हैं इगास पर्व को एक उत्सव के रूप में आपरेशन जंग फतह करने के बाद मनाया जाएगा पूरा देश देवभूमि के नायक को मिशन सिलक्यारा के लिए धन्यवाद दे रहा है धामी का मिशन फतह कई मायनों में एक इतिहास के रूप में जाना जाएगा

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

HTML tutorial

Most Popular

error: Content is protected !!