केदारनाथ धाम के कपाट बंद

केदारनाथ धाम के कपाट बंद Kedarnath Dham Close 2021 केदारनाथ भैया दूज के अवसर में प्रात: 8 बजे शीतकाल हेतु श्री केदारनाथ धाम के कपाट बंद हुए। चारो तरफ बर्फ से आच्छादित पहाड़ो के बीच बाबा की नगरी का सुन्दर नज़ारा ऐसा लगा रहा था जैसे स्वय भगवान शिव वहाँ विराजमान होकर आस्था के पथ पर पहुँचे भक्तो को दर्शन दे रहे हो सेना के बैंड बाजों की भक्तिमय धुनों के साथ कपाट बंद होने के बाद पंचमुखी विग्रह मूर्ति विभिन्न पड़ावों से होते हुए शीतकालीन गद्दी स्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में विराजमान होंगे।

संपूर्ण केदारनाथ में बर्फ जमी होने से मौसम सर्द बना हुआ है बड़ी संख्या में तीर्थयात्री, देवस्थानम बोर्ड, जिला प्रशासन, तीर्थ पुरोहित, हकहकूकधारी, स्थानीय श्रद्धालु कपाट बंद होने के साक्षी बने हर साल कपाट बंद और खोले जाने के समय यहाँ पर भक्तो की भीड़ ऐसे ही मिलती है बाबा केदारनाथ धाम में यात्री हेलीकॉप्टर सेवा जारी रहने से आसानी से पहुंच पाए

उत्तराखंड चारधामों में श्री गंगोत्री धाम के कपाट कल 4 नवंबर शीतकाल हेतु बंद हुए जबकि श्री यमुनोत्री धाम के कपाट शनिवार दिन में बंद होंगे यहाँ पर भी आस्था की उमंग सराबोर रही 20 नवंबर शनिवार भगवान बदरीविशाल के कपाट शीतकाल हेतु बंद होंगे 22 नवंबर भगवान मद्महेश्वर जी के कपाट बंद होंगे। 25 नवंबर को उखीमठ में मद्महेश्वर मेला आयोजित होगा

बाबा केदारनाथ धाम में आस्था की उमंग से सराबोर रहने वाला बाबा का धाम अपनी तरफ अपने भक्तो को हर साल लेकर आता है देवभूमि में आस्था का संगम हर जगह मौजूद है इस बार भी कपाट खोले जाने के बाद से अभी तक साढ़े चार लाख से अधिक तीर्थ यात्री पहुंच गये है चार धाम जिनमें दो लाख चालीस हजार से अधिक भगवान केदारनाथ जी के दर्शन को पहुंचे।

error: Content is protected !!