दिल्ली से बुलावा हरीश रावत की पोलटिक्स

दिल्ली से बुलावा हरीश रावत की पोलटिक्स Harish Rawat Recalled From Delhi विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर कांग्रेस में हरीश रावत के ट्वीट के बाद सनसनी मच गई है. उत्तराखंड की सियासत में 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले हरीश रावत के ट्वीट ने सनसनी मचाई है. उससे कांग्रेस और सहज नजर आ रही है इसके पीछे राजनीतिक समीकरण 2022 के विधानसभा चुनाव में टिकट के बंटवारे को लेकर सामने आ रहा है.

उत्तराखंड के कांग्रेसी नेताओं को कांग्रेस हाईकमान ने दिल्ली तलब किया है. दिल्ली बुलाये जाने के पीछे टिकटों के बंटवारे को लेकर आपसी तालमेल बैठाने की कवायद को देखा जा रहा है. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय एवं हरीश रावत को हाईकमान ने दिल्ली बुलाया है.

उत्तराखंड 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस टिकट के बंटवारे को जनवरी के पहले सप्ताह में पहली फाइनल सूची जारी कर सकती है. इस सूची में शामिल होने के लिए अब पॉलिटिकल दबाव भी देखा जा रहा है. हरीश रावत ने अपने ट्वीट के माध्यम से जो सनसनी उत्तराखंड में मचाई है उसका असर पंजाब की राजनीतिक हवा को भी झांक कर देखा जा रहा है.

माना जा रहा है हरीश रावत अपने को उत्तराखंड में सर्वमान्य नेता घोषित करने की कोशिश में जुटे हैं. वह चाहते हैं कि उत्तराखंड में कांग्रेस उनके नेतृत्व में चुनाव लड़कर 2022 का झंडा आगे रखें, वहीं दूसरा तर्क अगर देखा जाए तो वह उत्तराखंड की सियासत में यह भी साफ तरह से देखा जा रहा है कि कांग्रेस के अंदर उत्तराखंड में हरीश रावत को सर्वमान्य नेता नहीं माना जा रहा. देवेंद्र यादव कई बार उत्तराखंड में सामूहिक नेतृत्व से चुनाव लड़ने की बात कह चुके हैं लेकिन हरीश रावत उनकी बात को बिल्कुल भी नहीं मानते और शायद यही वजह है कि सोशल मीडिया पर लगातार ट्रेंडिंग में हरीश रावत बने हुए हैं और उनके समर्थक हरीश रावत के साथ होने के दावे सोशल मीडिया पर लगातार कर रहे है.

मतलब साफ है कि कांग्रेस में हरीश रावत अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं और टिकट के बंटवारे से लेकर वह तमाम चीजें अपने हाथ में लेते हुए उत्तराखंड के 2022 चुनाव का झंडा बुलंद करना चाहते हैं अब कांग्रेसी हाईकमान दिल्ली में उत्तराखंड के नेताओं को बुलाया है तो उसमें क्या समीकरण निकलता है और कांग्रेस इस पूरे मसले पर आगामी रणनीति क्या तय करती है.

error: Content is protected !!