Homeउत्तरकाशीगौरीकुंड हाईवे का 60 मीटर हिस्सा ध्वस्त, केदारनाथ मार्ग बंद

गौरीकुंड हाईवे का 60 मीटर हिस्सा ध्वस्त, केदारनाथ मार्ग बंद

गौरीकुंड हाईवे का 60 मीटर हिस्सा ध्वस्त, केदारनाथ मार्ग बंद

रुद्रप्रयाग में गुप्तकाशी तरसाली में पहाड़ी से भारी भूस्खलन से रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाईवे का 60 मीटर हिस्सा ध्वस्त हो गया है। यहां मलबे में एक वाहन के दबे होने की सूचना भी है। हाईवे ध्वस्त होने से केदारनाथ यात्रा मार्ग बंद हो गया है जो शुक्रवार तक भी खुलना मुश्किल है।

गौरीकुंड हाईवे का 60 मीटर हिस्सा ध्वस्त, केदारनाथ मार्ग बंद

बृहस्पतिवार को शाम 5.30 बजे तरसाली में पहाड़ी से बोल्डरों के साथ भारी मलबा गिरने से हाईवे का 60 मीटर हिस्सा ध्वस्त हो गया है। इस कारण एक बार फिर फाटा, सोनप्रयाग, गौरीकुंड का गुप्तकाशी से संपर्क कट गया है। ऐसे में केदारनाथ यात्रा फिर से प्रभावित हो गई है। एनएच के अधिकारियों के अनुसार, हाईवे खोलने में लंबा समय लग सकता है। पुलिस उपाधीक्षक विमल सिंह रावत ने बताया कि रुद्रप्रयाग से काकड़ागाड़ तक स्थानीय लोगों और यात्रियों को हाईवे बंद होने की जानकारी दी जा रही है।

Haridwar: मनसा देवी के पहाड़ से काली मंदिर के पास  भूस्खलन

हरिद्वार में गुरुवार को सुबह से ही बारिश का सिलसिला जारी है। इसके चलते मनसा देवी के पहाड़ से काली मंदिर के पास भूस्खलन हो गया। इस दौरान भारी मात्रा में मलबा रेलवे ट्रैक और मंदिर के पास गिर गया। सूचना मिलते ही जिला प्रशासन की टीम ने आस-पास के क्षेत्र से लोगों को हटवाया। वहीं, मलबा आने के कारण बाधित रेलवे ट्रैक को चार घंटे के बाद सुचारू किया जा सका। हरिद्वार में गंगा चेतावनी निशान से 15 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है। सुबह 9 बजे गंगा का जलस्तर 293.15 मीटर दर्ज किया गया। जिलाधिकारी ने एक से लेकर 12 तक के स्कूलों और आंगनबाड़ी केंद्रों में एक दिन का अवकाश घोषित किया है।

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

error: Content is protected !!