सर्वे में मेरा नाम साजिश षड्यंत्र : सुमितर भुल्लर

सर्वे में मेरा नाम साजिश षड्यंत्र : सुमितर भुल्लर Gadarpur Survey Congress News गदरपुर विधानसभा सीट पर कांग्रेस के फ़ोन पर हो रहे सर्वे में कांग्रेस के कुछ लोगो को फ़ोन किये जाने का मामला तेजी से वायरल होने के बाद राजनैतिक सरगर्मी बढ़ती जा रही है फ़ोन पर सर्वे को लेकर पहले ही सवाल उठाये जा चुके है मामले में नया मोड़ आ रहा है राजनैतिक विरोधी अपने अपने विरोधी कांग्रेसी नेताओं को विधानसभा चुनाव 22 में टिकट नहीं लेने के लिए बड़ा बैरियर बनते हुए नज़र आ रहे है गदरपुर सीट पर करीब एक दर्जन दावेदार कांग्रेस से टिकट की दावेदारी करते हुए देखे जा रहे है।

भड़ास फॉर इंडिया ने बीते दिनों गदरपुर में कांग्रेस के अंदर फ़ोन पर हो रहे सर्वे को लेकर मामले का खुलासा करते हुए सवाल उठाया था सर्वे में सुमितर भुल्लर के नाम को लेकर चर्चा नगर में तेजी से परवान चढ़ी थी इस चर्चा को राजनैतिक हवा देने का काम गदरपुर में किसके माध्यम से हुआ उसकी कड़ियों को अभी तक खोजा नहीं जा सका है चुनाव में टिकट दावेदारी को लेकर अपने अपने राजनैतिक विरोधी नेताओं को डैमेज किये जाने के लिए हर तरह का कदम उठाया जाता रहा है।

सर्वे में सुमितर भुल्लर के नाम को कुछ लोगो के पास फ़ोन किये जाने का पता जब चला तो इस मामले पर अधिक जानकारी निकल कर सामने आ रही है फ़ोन पर दूसरे कुछ लोगो के नाम भी जो टिकट की दावेदारी कर रहे है वो भी नगर में चर्चा का विषय बने हुए है भड़ास फॉर इंडिया से फ़ोन पर बात करते हुए सुमितर भुल्लर ने कहा की उनके नाम को लेकर कुछ लोग साजिश के रूप में राजनैतिक रूप से नुकसान पहुंचने के लिए कोशिश कर रहे है

सर्वे में उनके नाम को लेकर जो बातें कही जा रही है वो एक षड्यंत्र के रूप सामने आ रही है उन्होंने कहा वो कांग्रेस के युवा अध्यक्ष के रूप में अपनी जिम्मेदारी निभा रहे है पार्टी में होने के नाते उनकी दावेदारी सीट पर है लेकिन कांग्रेस हाई कमान जो भी फैसला लेगा वो कांग्रेस हित में लेगा सर्वे में अपने नाम को लेकर सुमितर भुल्लर ने कहा इस मामले को लेकर अपने खिलाफ हो रही साजिश के रूप में ये मामला नज़र आ रहा है।

कांग्रेस में हमेशा गदरपुर सीट पर गुटबाजी रही है जिसका नतीजा पिछले दो बार के विधानसभा चुनाव में हार के रूप में सामने आ चूका है विधानसभा चुनाव 22 में अगर देखा जाएं तो जमीनी पकड़ वाले नेता को कांग्रेस अपना उम्मीद वार बना सकती है लेकिन कांग्रेस के बाकि दावेदारों को अपने पक्ष में मिलाना भी एक बड़ी चुनौती के रूप में सामने है कांग्रेस गदरपुर सीट पर मजबूत दावेदार को तलाश रही है इस सीट पर बड़ी संख्या में बंगाली वोटर भी रहते है जो यहाँ पर जीत का बड़ा अन्तर बनाते है 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के अरविन्द पांडेय बंगाली वोटर के कारण ही जीत की चौखट तक पहुंचे थे।

error: Content is protected !!