Google search engine
Monday, July 4, 2022
Google search engine
Homeराष्टीयDroupadi Murmu द्रौपदी मुर्मू टूटी नहीं बन गई मिसाल

Droupadi Murmu द्रौपदी मुर्मू टूटी नहीं बन गई मिसाल

द्रौपदी मुर्मू टूटी नहीं बन गई मिसाल Droupadi Murmu Presidential Candidate राजग राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की मजबूत दावेदार बन गई है भारतीय जनता पार्टी और राजद ने उन्हें राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया है जानते हैं उनके राजनीतिक सफरनामे को आखिर उन्होंने इतने ऊंचे मुकाम पर पहुंचने के लिए अपने राजनीतिक जीवन और वास्तविक जीवन में क्या क्या देखा है। द्रौपदी मुर्मू पार्षद के रूप में अपना राजनीतिक सफर शुरू करने वाली द्रौपदी मुर्मू अनुसूचित जनजाति वर्ग एसटी से देश की पहली और दूसरी राष्ट्रपति बनना तय माना जा रहा है उड़ीसा के बेहद पिछले और संथाल बिरादरी से जुड़ी 64 वर्षीय द्रौपदी मुर्मू के जीवन का सफर भी काफी संघर्ष भरा रहा है आर्थिक अभाव के कारण स्नातक की शिक्षा ही हासिल कर पाई लेकिन उन्होंने शिक्षा को अपना कैरियर चुना और उड़ीसा सरकार में अपनी सेवा दी।

भाजपा से प्रभावित होकर उन्होंने राजनीति में अपना सफर शुरू किया और फिर भारतीय जनता पार्टी की ही होकर रह गई 1997 में द्रौपदी मुर्मू Droupadi Murmu पार्षद के रूप में राजनीति शुरू की साल 2000 में पहली बार विधायक और फिर भाजपा बीजेपी सरकार में दो बार मंत्री बनने का भी उनको मौका मिला झारखंड का राज्यपाल बनाया गया वहां की पहली महिला राज्यपाल राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का जीवन काफी संघर्ष भरा है। जिस उम्र में लोग अपने परिवार के साथ जीना और भविष्य की सोचते हैं उस उम्र में ही द्रौपदी मुर्मू विधवा हो गई पति की मौत के साथ-साथ अपने दो बेटों की मौत से भी वह नहीं टूटी उन्होंने अपने जीवन की संघर्ष कहानी को जारी रखा और अपनी इकलौती बेटी इतिश्री के साथ पूरे परिवार को हौसला देती रही उनकी आंखें पहली बार नम हुई जब उन्हें झारखंड के राज्यपाल के रूप में शपथ दिलाई जा रही थी।

Droupadi Murmu द्रौपदी मुर्मू को उम्मीदवार बना कर विपक्ष को यह सोचने पर मजबूर कर दिया है कि अब उनका अगला राजनीतिक कदम क्या होगा लेकिन यह माना जा रहा है राजद ने जिस तरीके से आदिवासी महिला को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में आगे किया है उसका एक अलग संदेश पूरे देश में जाता हुआ देखा जा रहा है विशेष रूप से महिला उम्मीदवार को भाजपा और राजग ने जिस तरीके से आगे किया है उसकी मिसाल पूरे देश भर में अलग तरीके से देखने को मिल रही है।

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित पूरी भाजपा ने जिस तरीके से एक आदिवासी महिला को आगे करके महिलाओं के बीच बड़ा संदेश दिया है वह निश्चित रूप से आने वाले दिनों में याद किया जाएगा देश के राष्ट्रपति पद की प्रबल दावेदारों में द्रौपदी मुर्मू फिलहाल सुरक्षा घेरे में ले ली गई है उन्होंने बुधवार को मंदिर में पूजा अर्चना करके अपने रूटीन काम की शुरुआत की मंदिर में पूजा अर्चना करती हुई देखी गई और रायरंगपुर के जगन्नाथ मंदिर में उन्होंने पूजा की इसके बाद उन्होंने इससे पहले शिव मंदिर में झाड़ू लगाई।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!