मुख्यमंत्री ने कहा धार्मिक आस्था की गरिमा सरकार का विजन

मुख्यमंत्री ने कहा धार्मिक आस्था की गरिमा सरकार का विजन Dharmik Astha Ka Vijan केदारनाथ धाम में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पांच नवंबर आगमन से पहले मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी बुधवार को बाबा केदार की नगरी में पहुँचे संत समाज से राज्य के मुखिया ने बात करते हुए कहा की उत्तराखंड सरकार जन भावना के अनुरूप केदारनाथ धाम में काम कर रही है जनसेवक के रूप में संत समाज के किसी भी हित का अहित नहीं होने दिया जायेगा

केदारनाथ धाम में बीते दिनों संत समाज ने बीजेपी नेताओं का कड़ा विरोध कर दिया था पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को बिना दर्शन किये ही वापिस लौटना पड़ा था लेकिन अब राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के मोर्चा संभाल लिया है वो बाबा केदारनाथ धाम में संत समाज को मनाए जाने में कामयाब नज़र आ रहे है मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केदारनाथ धाम में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पांच नवंबर को आगमन की तैयारी का भी अफसरों के साथ जायजा लिया है मुख्यमंत्री ने केदरनाथ धाम में पांच नवंबर के कार्यक्रम को लेकर फाइनल तैयारी का खाका भी बनाया है

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से बीते दिन मंगलवार को सचिवालय में बद्रीनाथ धाम से जुड़े श्री बद्रीनाथ डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत के प्रतिनिधियों ने भेंट की और उन्हें देवस्थानम बोर्ड से सम्बंधित ज्ञापन सौंपा। प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री को श्री बद्रीनाथ धाम का प्रसाद भेंट किया। मुख्यमंत्री जी ने प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों को अंग वस्त्र भेंट किए।

मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधि मंडल के समक्ष देवस्थानम बोर्ड के सम्बन्ध में गठित उच्च स्तरीय समिति के अध्यक्ष मनोहर कांत ध्यानी से भी वार्ता की और चार धाम पुरोहित पुजारियों की भावनाओं से अवगत कराया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार केंद्र से भी इस विषय में संवाद कर रही है। हमारी सरकार जन भावनाओं का सम्मान करने वाली सरकार है। तीर्थों के पंडा, पुरोहित और पुजारियों के मान सम्मान को कोई ठेस नहीं पहुंचाई जायेगी। हम सकारात्मक, धनात्मक और विकासात्मक दृष्टिकोण से चारधाम, पंडा, पुरोहित और पुजारी समाज के सम्मान तथा धार्मिक आस्था की गरिमा के सम्मान के लिए तत्पर हैं।

error: Content is protected !!