spot_img
Tuesday, December 6, 2022
spot_img
Homeक्राइमबुली बाई एप के तार देहरादून तक हिरासत में महिला

बुली बाई एप के तार देहरादून तक हिरासत में महिला

बुली बाई एप के तार देहरादून तक हिरासत में महिला Bulli Bai App Accused Dehradun Women देहरादून बुली बाई एप का काला सच सामने लाने के लिए पुलिस की पड़ताल अब देहरादून तक पहुंची है वजह देहरादून की एक महिला के तार इस मामले में उजागर होने का पता पुलिस को चला है बड़े मामलों पर हमेशा से ही देहरादून का सम्पर्क देखने को मिलता रहा है बुली बाई एप मामले के तार देहरादून से जुड़ गए हैं। मामले में मुंबई पुलिस ने देहरादून से एक महिला को हिरासत में लिया है। मुंबई पुलिस महिला को अपने साथ ले गई है। अभी महिला की पहचान उजागर नहीं की गई है।

इससे पहले मुंबई साइबर सेल ने सोमवार को बेंगलुरु से इंजीनियरिंग के छात्र को हिरासत में लिया था, जिसे मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया है। महाराष्ट्र के गृह राज्य मंत्री सतेज पाटिल ने पुलिस को बुल्ली बाई एप के डेवलपर्स के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया था।उल्लेखनीय है कि बोली भाई एप कुछ दिन से सुर्खियों पर है। महिलाओं की अश्लील तस्वीरों को एक अज्ञात समूह इंटरनेट प्लेटफॉर्म गिटहब का उपयोग करके एक एप पर अपलोड कर रहा है और उन्हें एप पर बुल्ली डील ऑफ द डे के नाम से साझा किया जा रहा है। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने पिछले साल जुलाई माह में प्राथमिकी दर्ज की थी, परंतु आज तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

बुल्ली बाई एप को खोलने पर एक मुस्लिम महिला की तस्वीर बुली बाई के तौर पर सामने आती है। ट्विटर पर अधिक फॉलोवर वाली मुस्लिम महिलाएं जिनमें पत्रकार भी शामिल है, इसमें उनकी तस्वीरें अपलोड की गई हैं। मामले में पुलिस ने अज्ञात अपराधियों के खिलाफ आईपीसी और आईटी एक्ट की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।

बुली बाई ऐप मामले में मुंबई पुलिस की साइबर सेल ने 21 साल के शख्स को गिरफ्तार किया है, उसकी पहचान विशाल कुमार के रूप में हुई है। मामले में मुख्य आरोपी एक युवती है जिसे उत्तराखंड से हिरासत में लिया गया है। मुंबई पुलिस के अनुसार, दोनों आरोपी एक-दूसरे को जानते हैं।

मुंबई पुलिस के अनुसार, मामले में मुख्य आरोपी महिला बुली बाई ऐप से जुड़े तीन अकाउंट को हैंडल कर रही थी। सह आरोपी विशाल कुमार ने खालसा सुप्रीमेसिस्ट नाम से एक अकाउंट खोला था। 31 दिसंबर को उसने दूसरे अकाउंट्स का भी नाम बदलकर सिख नाम से मिलता-जुलता रख दिया। इसमें फर्जी खालसा अकाउंट होल्डर को दिखाया गया।

गौरतलब है कि बुली बाई ऐप के जरिए मुस्लिम समुदाय की महिलाओं की तस्वीरें लगाकर उनकी कथित तौर पर बोली लगाने का आरोप है। इस मामले में शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी की शिकायत पर पश्चिम प्रादेशिक क्षेत्र साइबर पुलिस ने गिटहब पर होस्ट किए गए ‘बुल्ली बाई’ ऐप डिवेलपर के खिलाफ रविवार को मामला दर्ज किया गया था।

Uttarakhand News उत्तराखंड हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे वेब पोर्टल भड़ास फॉर इंडिया Bhadas4india को विजिट करे आपको हमारी वेबसाइट पर Dehradun News देहरादून न्यूज़ के साथ Uttarakhand Today News Breaking News हर खबर मिलेगी हमारी हिंदी खबरे शेयर करना नहीं भूले

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!