spot_img
Thursday, February 9, 2023
spot_imgspot_img
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
Homeराष्टीयभगत सिंह कोश्यारी चाहते है उत्तराखंड घर वापिसी मीडिया ट्रायल से आहत

भगत सिंह कोश्यारी चाहते है उत्तराखंड घर वापिसी मीडिया ट्रायल से आहत

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने अपने करीबियों से अपना पद और जिम्मेदारी से मुक्त होने की इच्छा जाहिर की है. विवादास्पद टिप्प्णियों के चलते मचे बवाल से आहत कोश्यारी अपने गृह राज्य उत्तराखंड (Uttarakhand) वापस लौटना चाहते हैं. इस बात की जानकारी उनके करीबी सूत्रों से मिलती हुई चर्चा का विषय बनी है अभी दिल्ली में भगत दा ने अपनी इच्छा से अवगत कराते हुए गवर्नर पद पर ना रहने और उत्तराखंड में वापिसी की दिल्ली इच्छा को जताया है हालाकि ये बात कितनी पुष्ट है इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं लेकिन सूत्रों के हवाले से चर्चा है गवर्नर अपने बयान के बाद से मीडिया में सुर्खियां होने के बाद से आहत देखे जा रहे है.

महाविकास अघाड़ी, बीजेपी सांसद उदयन राजे भोसले और राज्य में सत्तारूढ़ बीजेपी के पूर्व सांसद संभाजीराजे छत्रपति के बढ़ते दबाव के बीच राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी बैकफुट पर नजर आ रहे हैं. बीजेपी गुजरात चुनाव के बाद कोई बड़ा फैसला लेने की सोच सकती है उधर खबर है उत्तराखंड में उनके जाने की वजह राजनैतिक रूप भी हो सकती है बरहाल खबर में सच क्या होगा अभी बीजेपी की तरफ से कोई बड़ा अपडेट नही मिला है

महाराष्ट्र में गर्वनर भगत सिंह कोश्यारी के शिवाजी महाराज (Shivaji Mahaaraj) पर दिए गए बयान पर विवाद के बाद सूत्रों के हवाले से ये खबर सामने आई है कि वो अपना पद छोड़कर वापस अपने गृह राज्य उत्तराखंड जाना चाहते हैं. दरअसल, शिवाजी महाराज पर दिए गए उनके बयान के बाद उन्हें चौतरफा आलोचना का सामना करना पड़ रहा है. एसनसीपी प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) ने भी कोश्यारी के कमेंट को लेकर तीखी टिप्पणी की. शरद पवार ने कहा कि राज्यपाल ने सारी हदें पार कर दी हैं. उन्होंने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री से इस मामले में हस्तक्षेप करने की गुजारिश की.

 

बीजेपी सांसद ने भी दर्ज की आपत्ति

विपक्ष के अलावा राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को उनके बयान को लेकर कड़ी आलोचना का झेलनी पड़ी है. बीजेपी सांसद छत्रपति उदयनराजे भोसले गांव ने भी राज्यपाल कोश्यारी के बयान पर आपत्ति जताई है. उन्होंने कहा कि राज्यपाल को दिल्ली तलब किया गया है. उन्होंने राज्यपाल को उनके पद से हटाए जाने की संभावना भी जताई थी.

कोश्यारी ने शिवाजी को लेकर क्या कहा था?

दरअसल, कोश्यारी ने एक कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और एनसीपी नेता शरद पवार को डॉक्टरेट की मानद उपाधि प्रदान करते समय शिवाजी पर टिप्पणी की थी. कोश्यारी ने कहा था कि हम जब पढ़ते थे मिडिल में, हाईस्कूल में तो हमारे टीचर हमको वो देते थे, हू इज अवर फेवरेट हीरो. ऐसा, आपका फेवरेट लीडर कौन है, तो हम लोग उस समय, जिसको सुभाष चंद्र बोस अच्छे लगे उनको, जिनको नेहरू जी अच्छे लगे, जिनको गांधी जी अच्छे लगते थे.

उन्होंने आगे कहा कि मुझे ऐसा लगता है अगर कोई आपसे कहे कि हू इज योर आइकन, हू इज योर फेवरेट हीरो, बाहर जाने की कोई जरूरत नहीं है, यहीं महाराष्ट्र में आपको मिल जाएंगे. शिवाजी तो पुराने युग की बात हैं, मैं नए युग की बात बोल रहा हूं, कहीं मिल जाएंगे. डॉक्टर अंबेडकर से लेकर के डॉक्टर गडकरी तक. नितिन गडकरी साब तो यहीं मिल जाएंगे.

भगत सिंह कोश्यारी का गवर्नर पद पर तीन साल का कार्यकाल भी पूरा होने को है सियासत के पंडितों की बातों पर यकीन किया जाए तो राजनीतिक खबर यह भी चल रही है कि भगत सिंह कोश्यारी उत्तराखंड में वापस अपने ग्रह लौटना चाहते हैं वह लगातार छत्रपति शिवाजी को लेकर मीडिया ट्रायल में उनके बयान से काफी आहत हैं

भगत सिंह कोश्यारी वर्तमान में महाराष्ट्र के गवर्नर पद पर आसीन है और उनका कार्यकाल पूरा हो रहा है माना जा रहा है भगत सिंह कोश्यारी उत्तराखंड की सियासत में वापसी कर सकते हैं हालांकि भाजपा उनकी इच्छा को पूरा करने के पक्ष में नजर नहीं आ रही मतलब साफ है उत्तराखंड की सियासत में पुष्कर सिंह धामी मुखिया के रूप में उत्तराखंड में बने हुए है जो कोश्यारी के सबसे करीबी राजनैतिक उत्तराधिकारी के रूप में जाने जाते है

Uttarakhand News उत्तराखंड हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे वेब पोर्टल भड़ास फॉर इंडिया Bhadas4india को विजिट करे आपको हमारी वेबसाइट पर Dehradun News देहरादून न्यूज़ के साथ Uttarakhand Today News Breaking News हर खबर मिलेगी हमारी हिंदी खबरे शेयर करना नहीं भूले

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!