पत्नी की हवस आग बनी पति की चिता

0
4563

पत्नी की हवस आग बनी पति की चिता

देहरादून पति पत्नी का रिश्ता विस्वाश की नीव पर खड़ा होता है लेकिन अपने जिस्म की आग को ठंडा करने के लिए उस ने अपने पति को ही चिता की आग में हमेशा के लिए सुला दिया यही नहीं किसी को पता ने चले इस के लिए अपने पति को मौत के घाट उतारने के बाद इस बेवफा पत्नी ने अपने आशिक के साथ मिलकर अपनी हवस की आग को ठंडा किया देहरादून में हुए इस हत्या कांड को लेकर पुलिस को पहले से ही हत्या कांड की कहानी में झोल समझ आ रहा था देहरादून के थाना नेहरु क्लोनी में हुए इस हत्या कांड में पुलिस ने पत्नी और उस के आशिक को गिरफ्तार कर लिया है जनपद के पुलिस कप्तान सदानंद दाते ने अपने ऑफिस में मीडिया से बात करते हुए बताया की इस हत्या कांड में पुलिस टीम को मोके से इस तरह के संकेत मिल गए थे की हत्यारे कोई बहार के नहीं बल्कि इस हत्या कांड को करीबी ने ही अंजाम दिया है जिस पर पुलिस ने जांच की तो पाया की इस हत्या कांड में मृतक की पत्नी और उस का आशिक शामिल है पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार CCR में सूचना प्राप्त हुई थी कि चकशाह नगर के किसी घर के बाहर अज्ञात लोगों के द्वारा एक व्यक्ति के साथ मारपीट की गई है तथा मारपीट करने वाले व्यक्ति भाग गये है। सूचना पर थाना नेहरू कालोनी की मोबाइल मे उ0नि0 जितेन्द्र कुमार मय हमराह कर्म0गण व चीता 22 कर्म0गण मौके पर पहुंचे तो चकशाह नगर के शिवलोक कालोनी के एक घर जिसमें अन्दर एक महिला काफी जोर-2 से रो रही थी तथा पाया कि एक व्यक्ति चित अवस्था में कमरे में बैड पर मृत पडा हुआ था। जानकारी करने पर मृतक की पत्नी रीना ने बताया की मेरे पति देर रात तक घर नहीं पहुंचे तो मैने बाहर जाकर देखा तो मेरे पति घर के बाहर गली में गिरे पडें थे तथा उनके सिर ,नाक,मुहं से खून बह रहा था। इस पर उच्चाधिकारी गण को तत्काल सूचना से अवगत कराया । वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक व पुलिस अधीक्षक नगर एवं क्षेत्राधिकारी डालनवाला ,एवं एएसपी द्वारा मौके पर उपस्थित आये तथा उक्त घटना के सम्बन्ध में सफल निस्तारण हेतु एसओजी व थाना नेहरू कालोनी की टीम गठित की गई एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये।
मृतक दिनेश पाल की पत्नी रीना द्वारा एक तहरीर बाबत अपने पति की अज्ञात व्यक्तियों के द्वारा हत्या के सम्बन्ध में दी गई जिसके आधार पर थाना हाजा पर मु0अ0स0 11/16 , धारा 302 भादवि वनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया। गठित टीम द्वारा मेहनत व लगन से मुखविर की सूचना व इलैक्ट्रानिक तथ्यों के आधार पर मृतक की पत्नी श्रीमति रीना उर्फ काकी एवं उसके प्रेमी मौ0 असलम पुत्र नूरजहां अंसारी निवासी ग्राम जगीराह थाना मझोलिया जिला वेतिया बिहार हाल पता- C/O मोती रिस्पना नगर देहरादून को आज दिनांक-16-01-2016 को गिरफ्तार कर सख्ती से पूछताछ की गई तो इन दोनों ने बताया कि हम दोनों करीब 1 ½ साल से एक दूसरे को बहुत प्यार करते थे तथा तभी से हमारे बीच शारीरिक सम्बन्ध चले आ रहे हैं अब हम दोनों एक दूसरे के बगैर नहीं रह सकते थे। तब हम दोनों ने योजना बनाई की दिनेश पाल को अपने रास्ते से हटा देगें इसी योजना के तहत हम दोनो पिछले करीब एक महीने से रात के समय मौके के तलाश में रहने लगे इसी क्रम में दिनांक -15-01-2016 की रात्रि को रीना उर्फ काकी का पति दिनेश पाल समय करीब 9.00 बजे खाना खाकर बाहर चला गया । इसी बीच रीना द्वारा अपने प्रेमी को फोन करके घर पर बुलाकर गली में छुपा दिया जब रात्रि को करीब 12.00 बजे नशे की हालत में वापस आया और बैड पर सो गया। तो रीना ने अपने प्रेमी मौ0 असलम को गली से बुलाकर पहले से रीना द्वारा रखे लोहे के सब्बल तथा लोहे के धारदार चापड़ से पहले रीना द्वारा दिनेश पाल के सिर पर वार किया गया तथा दूसरा वार मौ0 असलम द्वारा दिनेश पाल के सिर पर किया गया। जिससे उसकी मौके पर उसकी बिना आवाज निकले मृत्यु हो गई उसके बाद रीना और मौ0 असलम द्वारा शारीरिक सम्बन्ध बनाये गये और रात्रि को करीब 3.00 बजे मृतक को जिन्स व जूते आदि पहनाकर दोनों के द्वारा शव को उठाकर समाज व पुलिस को गुमराह करने के लिए अपने घर के गेट के पांच कदम पहले शव को लिटा दिया और अपने प्रेमी मौ0 असलम को मौके से भगा कर अपने सम्बन्धियों को जो खुडबुडा व कांवली रोड़ पर रहते है। को फोन दवारा यह कहकर सूचना दी कि कोई उसके पति दिनेश पाल को बेहोशी की हालत में जिसके नांक ,व मुंह से खून निकल रहा है ।घर के गेट के आगे लिटा दिया है। जिससे की ऐसा प्रतीत हो की किसी बहारी व्यक्ति द्वारा उसके साथ मारपीट कर हत्या की गई हो।
अभियुक्तगणों के ब्यानों के आधार पर उनकी निसादेही पर हत्या में प्रयुक्त दोनों आला कतल व अन्य खूनालूदा कपडों को बरामद किया गया है।
अभियुक्तगणों द्वारा एक राय होकर दिनेश पाल की हत्या कर बडी चालाकी से किसी अन्य व्यक्ति द्वारा उसको मारपीट कर हत्या करने की योजना का टीम द्वारा मात्र 24 घण्टे में सफलतापूर्वक अनावरण किया गया हैं। उत्साहवर्धन हेतु गठित टीम को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा 2500/- रूपये से पुरूष्कृत किया गया।

bhadas4india देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल www.bhadas4india.com की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।