डब्ल्यूआईसी इंडिया में ‘कोया‘ का बुक लांच कार्यक्रम आयोजित

0
247

डब्ल्यूआईसी इंडिया में ‘कोया‘ का बुक लांच कार्यक्रम आयोजित
देहरादून, राजपूर रोड स्थित डब्ल्यूआईसी इंडिया में संजीव जैन की पुस्तक ‘कोया‘ का बुक लांच कार्यक्रम आयोजित किया गया। यह पुस्तक कविताओं का एक संकलन है, जिसमें कवि ने दर्द, आम आदमी जैसे शीर्षकों के माध्यम से अपने जीवन की परिस्थितियों को शब्दों के माध्यम से बयां किया है। इस पुस्तक की पंक्तियों में कवि ने अपने अब तक के अनुभवों व जज्बात को बड़े ही अनोखे अंदाज में शब्दों द्वारा लोगों तक पहंचाने का बखूबी प्रयास किया है।

इसके अलावा देहरादून कम्युनिटी लिट्रेचर फैस्टिवल (डीसीएलएफ) 2017 के लिए यह बुक लांच कार्यक्रम दूसरा नाटकीय मंचन भी था। लीलाधर जगुड़ी कार्यक्रम में बतौर चीफ गेस्ट उपस्थित थे।
इस मौके पर लीलाधर जगुड़ी ने कहा कि, अगर कोई कवि होना चाहता है तो उसे किसी लाइसेंस की आवश्यकता नहीं होती है, न किसी सिफारिश की।

कार्यक्रम का संचालन अंबर खरबंदा ने किया। उन्होंने कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कहा कि, एक कवि की सबसे खास बात यह होती है जो चीजों के बारे में खुद भी सोचे और दूसरों को सोचने के लिए मजबूर करे।

कविता की पंक्तियों में संजीव जैन कह रहे हैं कि, हम एक कोया के अंदर जन्म लेते हैं, जो कई परतों से बना होता है। हम जिंदगी भर इनको झाड़ते पोंछते, उखाड़ते, जमाते रहते हैं। वक्त के थपेड़े जब इन परतों पर पड़ते हैं तो अक्सर कुछ परतें टूट जाती हैं, और खुद को मौका मिल जाता है बाहर झांकने का। कभी कोई रोशनी अंदर आ गिरती है तो कभी कोई सिसकी सुनाई देती है। उन्होंने अपनी पुस्तक के बारे में बातचीत करते हुए बताया कि, मैने अभी तक अपने जीवनकाल में जो परिस्थितियां देखी है वही इस पुस्तक में लिखी हैं।

संजीव जैन जो कि पेशे से सिविल इंजीनियर हैं, लेकिन वर्तमान में एमडीडीए में प्रतिनियुक्ति पर हैं। संजीव जैन ने इस मौके पर कहा कि, मैंने हमेशा मेरे अंदर एक खालीपन पाया है। वहां हमेशा एक सवाल होते था जो अनुत्तरित रह गए थे। मेरे अंदर जो अस्थिरता थी उसको स्थिर व व्यवस्थित करने के लिए मैनें छंद और कविताएं लिखना प्रारंभ किया था। इस मौके पर सलोनी जैन, अतुल जैन, सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थी।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments