क्या नारी निकेतन के सच से उठ पायेगा पर्दा

0
1364

क्या नारी निकेतन के सच से उठ पायेगा पर्दा

देहरादून प्रदेश में महिलाओं का जिस्म कितना सेफ है ये तो नहीं कहा जा सकता लेकिन समाज कल्याण विभाग के अधीन आने वाले देहरादून के नारी निकेतन ने समाज कल्याण की पोल जरुरी खोल दी है की किस तरह राज्य में यहाँ रहने वाली मासूम आबरू अपनी जिस्म को नहीं बचा पर रही है अगर इस मामले में जांच सही तरह से हुई तो कई ऐसी बाते सामने आ सकती है जो राज्य के लिए काफी सर्मनाक होगी इस तरह का ये कोई पहला मामला नहीं है पूर्व में भी इस तरह के मामले सामने आ चुके है खबर है की देहरादून के नारी निकेतन में दो सरकारी लोगो के बीच विवाद है उसी विवाद के कारण इस मामले को इतना बड़ा रूप दिया गया है हलाकि सरकारी अधिकारी इस बात की भी जांच कर रहे है की क्या इस तरह की भी कोई बात है या नहीं इस मामले को लेकर जांच समिति अपनी रिपोर्ट जिला अधिकारी को देगी जिस के बाद जांच में दोषी पाये जाने पर कारवाही होना तय है इस मामले पर प्रदेश के मुख्यमंत्री हरीश रावत कारवाही किये जाने की बात पूर्व में ही कह चुके है लेकिन जिस तरह के आरोप सामने आ रहे है अगर वो सही है तो ये राज्य के लिए काफी सर्मशार करने वाले है की किस तरह उन लड़कियों के साथ ये सब किया गया वो भी उस जगह पर जहा जाने के लिए क़ानूनी बाध्यता है आखिर सवाल ये भी है की किस तरह बिना रोक टोक ये सब काम वह अंजाम दिया जा रहा था जहा पर कोई भी वयक्ति बिना क़ानूनी परमिसन के नहीं जा सकता इस मामले की पुलिस भी अपने इस्तर से जांच कर रही है की आखिर वो कौन पुलिस वाले है जिन पर इस तरह के आरोप लग रहे है कुल मिलकर मामला मीडिया में आने के बाद देहरादून के दून अस्पताल में कुछ नारी निकेतन की महिलाओं का मेडिकल करवाया गया है देहरादून नारी निकेतन में संवासिनियों से रेप और गर्भपात मामले में पुलिस-प्रशासन ने शनिवार सुबह संवासिनियों का मेडिकल परीक्षण कराया।

शनिवार सुबह एडीएम झरना कामठान और समाज कल्याण विभाग के निदेशक के नेतृत्व में जांच टीम कड़ी सुरक्षा में दो संवासिनियों को लेकर दून महिला अस्पताल में पहुंची। यहां पर जांच टीम की मौजूदगी में डॉक्टरों की टीम ने संवासिनियों का मेडिकल किया।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments