विधानसभा धारचूला में आयोजित मुनस्यारी महोत्सव, 2016 के समापन कार्यक्रम

0
236

विधानसभा धारचूला में आयोजित मुनस्यारी महोत्सव, 2016 के समापन कार्यक्रम

पिथौरागढ़। विधानसभा धारचूला के तहसील मुनस्यारी में आयोजित मुनस्यारी महोत्सव, 2016 के समापन कार्यक्रम में उपस्थित प्रदेश के  मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि उत्तराखण्ड की लोक संस्कृति यहां की परम्परा को संरक्षण एवं उसको जीवान्त रखने हेतु राज्य सरकार प्रत्येक वर्ष पूरे राज्य में मेले एवं महोत्सवों में 25 करोड़ रूपये व्यय कर रही है। इन मेलों के आयोजनों से जहां एक ओर हमारी लोक संस्कृति व कला रक्षित हो रही है वही इन मेलों के आयोजनों से पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा मिल रहा है इसके अतिरिक्त मेलों में स्थानीय काश्तकारों एवं किसानों द्वारा उत्पादित विभिन्न उत्पादों का प्रदर्शन भी मेलों के माध्यम से किया जा रहा है, इन मेलों के माध्यम से जनता को कम मूल्य एवं आसानी से स्थानीय उत्पाद प्राप्त होते है वही काश्तकारों, शिल्पीयों आदि को इन मेलों का लाभ मिलता है। इसके अतिरिक्त  मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य जितनी अधिक तरक्की करेगा, गरीबो का उतना हिस्सा बढ़ेगा। मुनस्यारी महोत्सव में उपस्थित जनता को संबोधित करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में विशेष रूप से महिलाओं के उत्थान हेतु अनेक कार्य कर रही है, प्रदेश सरकार द्वारा कन्या के जन्म से लेकर वृद्वावस्था तक अनेेक योजनाऐं संचालित कर योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। उन्होंने महिला समूहों द्वारा उत्पादित सामग्री को राज्य एवं राज्य से बाहर बिक्री हेतु ले जाने का सम्पूर्ण व्यय सरकार द्वारा व्यय किये जाने की घोषणा भी की। इसके अतिरिक्त उन्होंने धारचूला विधानसभा के तहसील धारचूला एवं मुनस्यारी अंतर्गत भेड़पालक जो सर्दियों के समय में भेड़ आदि जानवर उच्च हिमालयी क्षेत्रों से मैदानी क्षेत्रों को ले जाते है उनके समस्त पड़ावों में सैट एवं शौचालय आदि सुविधाओं का निर्माण किये जाने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य में वर्तमान में कुल 1000 सड़कों में कार्य किया जा रहा है। उत्तराखण्ड राज्य देश के सबसे तेजी से विकास में बढ़ रहे 6 राज्यों में शामिल है उन्होंने कहा कि राज्य की निरन्तर तरक्की हो रही है, यहां की प्रति व्यक्ति औसत आय बढ़ने के साथ ही सेवा, औद्योगिक एवं पर्यटन के क्षेत्र में निरन्तर तेजी से विकास हो रहा है साथ ही विद्युत 23 से 24 घण्टे उपलब्ध करायी जा रही है। उन्होंने कहा कि पाॅलीटेक्निक, डिग्री काॅलेजो एवं आई0टी0आई0 खोले जाने के साथ ही अनेक विद्यालयों का उच्चीकरण भी किया गया है। साथ ही उन्होंने कहा कि हमें अपने विकास हेतु तीनों क्षेत्रों (शिक्षा, हस्तशिल्प, कृषि) में कार्य करना है एवं सरकार द्वारा इन तीनों क्षेत्रों में कार्य किया जा रहा है, जिसमें शिक्षा की गुणवत्ता, हस्तशिल्प को बढ़ावा दिये जाने के साथ ही खेती को बढ़ावा दिये जाने के क्षेत्र में कार्य किया जा रहा है। इन्ही तीन क्षेत्रों के विकास से हमारी गरीबी दूर होगी, महिला स्वंय सहायता समूहों को आगे बढ़ाने हेतु सरकार उन्हें अर्थिक मदद दे रही है। सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी देते हुए सीएम ने कहा कि सरकार द्वारा अनेक पेंशन योजनाओं पात्र व्यक्तियों को दी जा रही है। वर्तमान में विभिन्न पेंशन योजनाओं केा 200 से बढ़ाकर 1000 रूपया कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि वर्तमान तक 7 लाख 25 हजार व्यक्तियों को पेंशन दी जा रही हैं जिसे चुनाव तक 10 लाख से अधिक लोगों को विभिन्न पेंशन से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि डंगरिया, मंगल गीत गाने वाली महिलाओं को भी पेंशन दी जा रही हैं। इसके अतिरिक्त मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पेंशन दिये जाने वाले राज्यों में उत्तराखण्ड राज्य सम्पूर्ण भारत में सर्वाधिक पेंशन देने वाला राज्य है एवं उन्हांेने कह कि उत्तराखण्ड राज्य राष्ट्रीय प्रति व्यक्ति आय के क्षेत्र में देश के अंतर्गत शीर्ष 6 राज्यों में भी सम्मीलित हो चुका है। इसके अतिरिक्त वर्ष 2017 तक उत्तराखण्ड चैबीस घंटे बिजली देने वाला राज्य भी बन जाएगा व वर्ष 2018 तक सभी ग्राम सड़कों से जुडेंगे 1000 नई सड़कों का निर्माण किया जाएगा तथा 2022 तक राज्य सरकार द्वारा राज्य के प्रत्येक नागरिक को रोजगार से जोड़ा जायेगा तथा 2020 तक राज्य सरकार का लक्ष्य है कि राज्य से गरीबी को पूर्णतया समाप्त करना है। इसके अतिरिक्त उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा योजनाबद्व तरीेके से घरों को पुर्नजीवित करने हेतु प्रोत्साहित किया जा रहा है ताकि आने वाले पर्यटकों को अतिथि के रूप में इन घरों में रूकाया जा सकें तहसील धारचूला एवं मुनस्यारी के उच्च हिमालीयी क्षेत्रों, आदि गांवो में स्थानीय लोगों द्वारा पर्यटकों को अपने घरों में होम स्टेय कराया गया जिससे वहां के लोगों को आर्थिक लाभ प्राप्त हुआ तथा पर्यटन गतिवधियों को बढ़ावा मिल रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा महिलाओं के उत्थान हेतु मुख्यमंत्री सतत्महिला आजीविका योजना चलायी गयी है जिसके माध्यम से महिलाओं को और अधिक सशक्त बनाया जा रहा है इसके अतिरिक्त प्रदेश के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सीमांत क्षेत्र मुनस्यारी की काश्तकला एवं हथकरघा उद्योग के माध्यम से तैयार उत्पादों की सराहना करते हुए कहा कि सरकार उद्योगों एवं कला को प्रोत्साहन देते हुए मुनस्यारी में टैक्सटाईल पार्क का निर्माण कराया जा रहा है साथ ही महिला स्वंय सहायता समूह के उत्पादों, सामग्री को बाजार उपलब्ध कराये जाने हेतु सरायों का निर्माण भी प्रदेश सरकार द्वारा कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य के स्थानीय ब्यजनों एवं उत्पादित अनाज को बढ़ावा दिये जाने हेतु इन्दिरा अम्मा भोजनालय संचालित किये जा रहे है जिनका संचालन समस्त महिला स्वंय सहायता समूहों द्वारा किया जा रहा है जो वर्तमान में बेहतर आमदनी भी आर्जित कर रहे है। इसके अतिरिक्त मुख्यंमत्री जी ने कहा कि वर्तमान में 200 महिला स्वंय सहायता समूह राज्य में बेहतर कार्य कर रहे है। इसके अतिरिक्त गरीब परिवारों को 3 एवं 5 बकरियां निशुल्क उपलब्ध करायी जा रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार पेड़ लगाये जाने, ग्रामीण क्षेत्रों में पानी एकत्रित कर छोटे तालाब बनाये जाने व दुग्ध उत्पादन पर बोनस दे रही है। इसके अतिरिक्त उन्होेंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा यह भी निर्णय लिया गया है कि जो समूह आवारा पशुओं को पालने का कार्य करेगा उसे राज्य सरकार से आर्थिक सहयोग दिया जायेगा। इस अवसर पर उत्तराखण्ड वन विकास निगम के अध्यक्ष हरीश धामी, उपनिदेशक एसएसबी हेम चन्द्र खर्कवाल, ब्लाक प्रमुख मुनस्यारी नरेन्द्र सिंह रावत, ब्लाक प्रमुख धारचूला, जिलाधिकारी डा0 रंजीत सिन्हा, पुलिस अधीक्षक अजय जोशी, मुख्य विकास अधिकारी आशीष कुमार चैहान, एसडीएम धारचूला एसके पाण्डेय, उत्तराखण्ड जनजाति आयोग के उपाध्यक्ष कैलाश रावत, उत्तराखण्ड विद्युत सलाहाकार समिति के सदस्य सुन्दर सिंह बथियाल, ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष मनोहर टोलिया, विधायक प्रतिनिधि हीरा चिराल, जगत बर्थवाल, जगत सिंह महर, नरेश द्विवेदी, पूर्व ब्लाक सैनिक संगठन के अध्यक्ष लक्ष्मण सिंह कन्याल, तारा पांगती, कांग्रेस नेत्री रेवती जोशी समेत जनप्रतिनिधि, विभागीय अधिकारी, स्थानीय जनता आदि उपस्थित थे।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments