वेंटिलेटर पर उत्तराखंड सेवायोजन कार्यालय, आउट सोर्स से नौकरी का खेल

0
556

वेंटिलेटर पर उत्तराखंड सेवायोजन कार्यालय, आउट सोर्स से नौकरी का खेल 
देहरादून उत्तराखंड में सरकारी विभागों में नौकरी को लेकर एक तरह जहां अधिकारी पहले तो नौकरी लगाए जाने के खेल को अंजाम देते है और बाद में सरकार को इस के विरोध का सामना करना पड़ता है राज्य में जब सेवायोजन कार्यालय सभी जिलों में मौजूद है लेकिन इस विभाग को वर्तमान समय पूरी तरह पैदल किया जा चूका है जब की राज्य में कोई भी सरकारी नौकरी इसी सेवायोजन कार्यालय के माध्यम से लगायी जानी जरुरी है लेकिन वर्तमान समय में इस विभाग के बजाये उपनल के माध्यम से सरकारी विभागों में नौकरी का खेल खेला जा रहा है राज्य की जनता के बीच सेवायोजन विभाग को लेकर जन चर्चा चल रही है की कोई भी सरकारी नौकरी बिना सेवायोजन में पंजीकरण के बिना न लगायी जाये ये जरुरी भी है क्यों की राज्य में रहने वाला कोई भी वयक्ति अपना पंजीकरण इसी विभाग में करवाता है
जनसंघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जी०एम०वी०एन० के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने जनहित के एक महत्‍वपूर्ण मुददे को उठाया, श्री नेगी ने बेरोजगारों से जुडे मामले को उठाते हुए कहा कि सेवायोजन कार्यालय की किसी समय बडी महत्‍ता हुआ करती थी, इसी के मार्फत हर छोटी व बडी नौकरियों में कॉल लैटर जाते थे, आज यह सेवायोजन कार्यालय को नाममात्र का कार्यालय बना दिया गया, आउटसोर्सिंग एजेन्सियों को अभ्यर्थी प्रायोजित करने की खुली छूट देकर बेरोजगारों को लूटने की खुली छूट दे दी गयी है ,
विकासनगर-स्थानीय होटल में पत्रकारों से वार्ता करते हुए जनसंघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जी०एम०वी०एन० के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने कहा कि वर्तमान में सरकार द्वारा आउटसोर्सिंग एजेन्सियों को अभ्यर्थी प्रायोजित करने की खुली छूट दी हुई है, जिसके चलते आउटसोर्सिंग एजेन्सियाँ मनमानी करती हैं तथा साथ-साथ खुली लूट करती हैं। इस खुली छूट के चलते योग्य एवं गरीब अभ्यर्थी पीछे छूट जाते हैं तथा दूसरी और धनाड्य एवं ऊँची पहच वाले युवा रोजगार हासिल कर लेते हैं।
अधिकांष मामलों में एजेन्सी के पास कोई प्रमाणित पंजीकरण की व्यवस्था नहीं होती तथा सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों एवं एजेन्सियों के गठजोड के चलते केवल उन्हीं अभ्यर्थियों का चयन होता है, जिनकी सैटिंग-गैटिंग होती है। इस सैटिंग-गैटिंग के खेल में अधिकारी रातो-रात लखपति बन जाते हैं।
नेगी ने कहा कि चकि सेवायोजन कार्यालय एक सरकारी संस्था है तथा इनके द्वारा पंजीकृत अभ्यर्थियों को अगर अग्रसारित किया जायेगा तो निष्चित तौर पर ये खुली लूट बंद होगी तथा काफी हद तक योग्य एवं गरीब युवाओं को रोजगार मिल पायेगा।
नेगी ने कहा कि आज तक इस कुव्यवस्था के कारण अधिकांष पदों के सापेक्ष न तो योग्य अभ्यर्थी ही सेवायोजित हो पाये और न ही विभागों को गुणवत्ता युक्त अभ्यर्थी मिल पाये, जो कि भविश्य में स्थायीकरण के समय युवाओं की राह में रोडा बन सकती है।
जनसंघर्श मोर्चा षीघ्र ही इस व्यवस्था को लागू कराने को लेकर मा० मुख्यमन्त्री से मुलाकात करेगा तथा युवाओं की पीडा से अवगत करायेगा।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments