जीरो टॉलरेंस सरकार में स्टिंगबाजो और ऍमडी जांच को लिखा मंत्री पत्र गायब

0
118

जीरो टॉलरेंस सरकार में स्टिंगबाजो और ऍमडी जांच को लिखा मंत्री पत्र गायब :UTTRAKHAND Minister LATER MISSING STING CASE जीरो टॉलरेंस सरकार में स्टिंगबाजो और ऍमडी जांच को लिखा मंत्री पत्र गायब
देहरादून उत्तराखंड सरकार के सबसे ताकतवर कैबिनेट मंत्री प्रकाश पंत का जांच के लिए लिखा गया पत्र गायब हो गया है जो सरकारी सिस्टम से लेकर सरकार पर सवाल खड़ा कर रहा है उत्तराखंड में भाजपा की जीरो टॉलरेंस सरकार का दावा करने वाले मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के लिए इस पत्र का गायब होना कई तरह के सवालो को जन्म दे रहा है क्या किसी राजनैतिक दवाब के चलते इस पत्र को गायब करवाया गया है या फिर कोई खास वजह इस पत्र को लेकर हो सकती है ऐसे कई सवाल राजनीती गलियारों से लेकर अधिकारी वर्ग के बीच चर्चा का विषय बन गए है राज्य सरकार से इस मामले पर स्टिंग बाज से लेकर अधिकारी पर कारवाही नहीं किये जाने पर मोर्चा ने कोर्ट जाने की बात कही है

पेयजल विभाग के ऍमडी और स्टिंगबाज लोगो पर कारवाही को लेकर कोर्ट जायेगा मोर्चा 

बता दे इस मामले को लेकर चर्चा में बने रहने वाले जन संघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने प्रेस वार्ता कर पेयजल विभाग के महाप्रबधक भजन सिंह के अगस्त माह में किये गए स्टिंग प्रकरण को लेकर पेयजल विभाग के मंत्री प्रकाश पंत के पत्र गायब होने को लेकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला है नेगी ने कहा की राज्य में जीरो टॉलरेंस की सरकार का दावा करने वाले मुख्यमंत्री के कार्यकाल में किस तरह पेयजल विभाग के ऍम डी भजन सिंह का स्टिंग करने वाले लोगो के खिलाफ कोई कारवाही अंजाम नहीं दी गयी जबकि इस मामले को लेकर सीबीआई से जांच किये जाने और जांच पूरी होने तक ऍम डी भजन सिंह को पद से हटाए जाने की बात पत्र में कही गयी थी लेकिन तीन महीने बाद भी इस मामले पर कारवाही होना तो दूर पत्र ही गायब हो जाना कई तरह के सवालो को खड़ा कर रहा है नेगी ने कहा की राज्य सरकार के सबसे ताकतवर कैबिनेट मंत्री प्रकाश पंत का पत्र गायब हो जाना राज्य सरकार की सरकारी सिस्टम पर भी सवालिया निशान लगा रहा है

नेगी के पीछे किसकी राजनैतिक ताकत
मीडिया से लेकर राजनैतिक हलकों में चर्चा का बाजार इस लिए भी गरम है की आखिर रघुनाथ सिंह नेगी लगातार मुख्यमंत्री के खिलाफ अपनी आवाज़ बुलंद क्या किसी के इशारे पर अंजाम दे रहे है या फिर इसके पीछे कोई खास मकसद बताया जा रहा है चर्चा ये भी है की नेगी की लगातार मुख्यमंत्री के खिलाफ प्रेस वार्ता क्या पर्दे के पीछे किसी राजनैतिक सरक्षण का इशारा तो नहीं क्योकि रघुनाथ सिंह नेगी को रमेश पोखरियाल निशंक के मुख्यमंत्री काल वाली सरकार में गढ़वाल मंडल विकास निगम का उपाध्यक्ष बनाया गया था जिसके बाद नेगी भाजपा में कभी भी सरकार के चले जाने के बाद भाजपा दफ्तर में नहीं गए और अपना मोर्चा खड़ा कर कई मामलो पर आवाज़ उठा रहे है यही चर्चा इन दिनों राजनैतिक कानो में गूंज रही है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments