गंगोत्री मार्ग पर बने गंगोरी पुल मामले को लेकर जांच की माँग

0
272

गंगोत्री मार्ग पर बने गंगोरी पुल मामले को लेकर जांच की माँग:UTTARKASHI BRIZE SCAM GANGORI

UTTARKASHI BRIZE SCAM GANGORI
उत्तरकाशी में और भारत की सीमा से लगा काम चलाव पुल जहां ओवर लोडिगं की वजह से गिर गया वहीं कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता प्रदीप भट्ट ने राज्य और केन्द्र सरका को आडे़ हाथ लिया,मामले पर भट्ट ने पत्रकार वार्ता में बताया कि केन्द्र की मोदी सरकार भाषणों में मस्त है जहां एक तरफ भारत और चीन के सामने तनाव जैसी स्थितियां रहती है वहीं सीमा पर बने पुल गिर जा रहे हैं भट्ट ने कहा कि जो डबल इंजन केद्र और राज्य के बिच में लगा है वह आखिर क्यों काम नहीं कर रहा?सीमा सुरक्षा पर भट्ट ने कहा की पीएम मोदी जुमलों की जगह यदि सीमा पर आवागमन के साधन सही कर दें तो वहीं सबसे बडी़ बात है,

कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता ने मामले को गंभीर बताया और जिलाधिकारी सहीत जिला पुलिस अधिक्षक की सरहाना की कि प्रसाशन के गम्भीरता से चंद समय में वैकल्पिक व्यवस्था शुरू हुई,कांग्रेस प्रवक्ता ने एक सवाल के जवाब में कहा कि पुल बनवाने में पांच साल लगना था जब केन्द्र ने सड़क सीमा की सुध नही ली,यह मामला गंगोत्री मार्ग पर बने गंगोरी वैकल्पिक पुल की जो २०१२/१३ की दैविक आपदा में बना था तब से आजतक सड़क सीमा का आरसीसी का पुल नहीं बन सका,अब भाजपा कांग्रेस चाहे मामले का राजनैतिकरण कर ले लेकिन सवाल गंम्भीर है कि दोनो दलों ने पांच साल तक चुप्पी क्यों नहीं तोड़ी?

चीन सीमा से लगे हुए गंगोरी पुल हादसे के बाद कांग्रेस ने बीजेपी के डबल इंजन सरकार पर कड़े हमले शुरू कर दिए हैं कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता प्रदीप भट्ट ने एक पत्रकार वार्ता में उत्तरकाशी जनपद से लगी हुई चीन सीमा पर सरकारी उपेक्षा का आरोप लगाया उन्होंने कहा कि भले ही डीएम डॉ आशीष चौहान की तत्परता और मौके पर खड़े होकर काम कराने की वजह से वैकल्पिक सड़क निर्माण नियत समय पर पूरा हो गया हो किंतु अभी भी गंगोरी में अस्थाई वर्ली ब्रिज लगाए जाने की बात की जा रही है जबकि इस स्थान पर अब तक का स्थाई पुल बनाया जाना चाहिए उन्होंने कहा कि ऑल वेदर रोड सहित चीन सीमा और गंगोत्री धाम की तरफ सड़क चौड़ीकरण का कार्य जारी है जिसमें भारी जेसीबी और अन्य अर्थ मूवर मशीन की जरूरत है ऐसी मशीनों को सीमा पर सड़क निर्माण के लिए पक्के पुलों की दरकार है लिहाजा इस हादसे के से सबक लेकर सरकार को अब वर्ली ब्रिज के स्थान पर पक्के पुलों का निर्माण करवाना चाहिए प्रदेश प्रवक्ता प्रदीप भट्ट ने सरकार पर चुटकी लेते हुए कहा कि केंद्र और राज्य सरकार के बीच डबल इंजन का पुल कहीं नजर नहीं आ रहा है ऋषिकेश से लेकर गंगोत्री और नीलाम बॉर्डर तक तमाम अस्थाई पुलों के स्थान पर पक्के पुल निर्मित किए जाने चाहिए इसके साथ ही पुराने पुलों के नट बोल्ट चेक कर उनकी उपयोगिता की समय-समय पर जांच की जानी चाहिए

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments