यूथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बने विक्रम रावत,किसका राजनैतिक चक्रव्यूह नहीं भेद पाए हरदा

0
295

यूथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बने विक्रम रावत,किसका राजनैतिक चक्रव्यूह नहीं भेद पाए हरदा:Uttarakhand Youth Congress Election Result


देहरादून यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष को लेकर आखिरकार कड़ी मशक्कत के बाद उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के सलाहकार रंजीत रावत के बेटे विक्रम रावत ने यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पद पर चुनाव जीत लिया है जबकि दूसरे नंबर पर इंदिरा और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के कैंप के हल्द्वानी निवासी प्रिंस रहे हैं।

उत्तराखंड यूथ कांग्रेस चुनाव में राजनीतिक विरोध के बीच प्रदेश अध्यक्ष को लेकर कई दिनों से चुनाव की प्रक्रिया चल रही थी बीते दिन जिलाध्यक्षों की जीत के बाद तय हो गया था कि उत्तराखंड में यूथ कांग्रेस का अगला प्रदेश अध्यक्ष कौन होगा।  हालांकि राजनीतिक समीकरण को लेकर हरीश रावत कैंप रंजीत रावत के बेटे विक्रम रावत के खिलाफ चुनाव में दमखम भरता हुआ नजर आया वहीं हल्द्वानी के प्रिंस के लिए इंदिरा हिरदेश और प्रीतम सिंह के साथ-साथ यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भुवन कापड़ी ने अपनी राजनीतिक गोटिया बिछाई थी लेकिन तमाम राजनीतिक गोटियों को दरकिनार करते हुए आखिरकार उत्तराखंड में यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष के रुप में विक्रम रावत ने बाजी मारी।

जो यह बताने के लिए भी काफी है उत्तराखंड की राजनीति में कांग्रेस की गुटबाजी के चलते यह जीत दर्ज हो सकी है जबकि तीसरे प्रत्याशी सुमित्र भुल्लर पर भी दांव खेला गया था।  पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और आनंद रावत भुल्लर के समर्थन में राजनैतिक बिसात बिछा कर चाल चल रहे थे लेकिन वह यूथ कांग्रेस के चुनाव में जीत दर्ज नहीं कर सके अंदरखाने चली राजनीतिक चाल से आखिरकार रंजीत रावत ने उत्तराखंड में कांग्रेस के दिग्गज नेताओं को पटखनी जरूरी दी है।

बता दें कि हरीश रावत सरकार के समय रंजीत रावत का सरकार में खास दखल रहता था लेकिन विधानसभा चुनाव के बाद हरीश रावत ने रंजीत को साइड लाइन लगा दिया था इसके बाद भी विक्रम रावत की यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पर विजय बता रही है।  कि तमाम विरोधों के बाद आखिरकार रंजीत के बेटे जीत पाने में कामयाब हुए हैं वहीं इस यूथ कांग्रेस के चुनाव में कांग्रेस की गुटबाजी भी साफ तौर पर देखे जाने को मिली राजनीतिक सूत्रों के दरबार से आ रही जानकारी के अनुसार कई खेमों में बटी कांग्रेस ने अलग अलग लोगों को चुनावी मैदान में उतार कर अपनी राजनीतिक चाल खेलने का प्रयास किया लेकिन उन चालो में सभी ढेर हो गए जिसका नतीजा रहा कि कांग्रेस के नए प्रदेश अध्यक्ष के रुप में विक्रम रावत ने बाजी मार ली।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments