उत्तराखण्ड परिवहन निगम की 483 नई बसों का लोकापर्ण

0
425

उत्तराखण्ड परिवहन निगम की 483 नई बसों का लोकापर्ण

देहरादून मुख्यमंत्री हरीश रावत ने आईएसबीटी देहरादून में मुख्यमंत्री पर्यटन एवं प्रोत्साहन योजना के अन्र्तगत उत्तराखण्ड परिवहन निगम की 483 नई बसों का लोकापर्ण किया। देहरादून से बाया कोटद्वार, ढौटियाल, बसडा, रिखणीखाल रात्रि विश्राम कोटनाली वापस कोटनाली, रिखणीखाल, बसडा, ढौटियाल, कोटद्वार रात्रि विश्राम देहरादून रूट पर भी बसे आरम्भ की गई है। ये बसे परिवहन निगम की पुरानी बसों को रिप्लेस करेगी। 483 नई बसों में आर्डनरी बसों के साथ ही कुछ लक्जरी बसों को भी शामिल किया गया है। इस अवसर पर परिवहन निगम एव राज्य भर के लोगों को बधाई एव शुभकामनाएं देते हुए मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि राज्य में गुणतापूर्ण व सुविधा सम्पन्न बसों की जरूरत लम्बे समय से थी। प्रथम चरण में 483 नई बसों का लोकापर्ण किया गया है। द्वितीय चरण में बसों को ओर अधिक आधुनिकीकृत किया जाएगा। आधुनिक वर्कशाॅप के लिए कार्ययोजना शीघ्र बनाई जानी चाहिए। श्री रावत ने कहा कि परिवहन निगम को दक्षतापूर्ण कार्य शैली से लाभ कमाने को अपनी आदत में शामिल करना होगा। परिवहन क्षेत्र को माॅर्डन वर्कशाॅप की आवश्यकता है। हमें परिवहन निगम को एक लाभ कमाने वाली यूटिलिटी में बदलना होगा। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि यदि सरकार की नीतियों के कारण निगम को किसी प्रकार की हानि उठानी पड़ी हो तो इसकी क्षतिपूर्ति भी सरकार द्वारा ही की जाएगी परन्तु निगम की कार्यदक्षता के कारण होने वाली हानि हेतु कार्य शैली व संचालन में आवश्यक सुधार शीघ्र किये जाने चाहिए। सरकार द्वारा निगम की स्थिति में सुधार हेतु इसके ऋणों को राइट आॅफ किया गया। परिवहन निगम के बेड़े में लक्जरी बसों के आधार पर इसे लाभ की स्थिति में पहुचाया जा सकता है। राज्य भर मे बड़ी बसों पर भार को कम करने हेतु छोटी बसों व मैक्सी बसों की सेवा को बढ़ावा दिया गया है। अब हमें सम्पूर्ण कार्यशैली व संचालन में सुधार की आवश्यकता है। निगम की प्रशासनिक संरचना में भी स्थायित्व लाने का प्रयास किया गया है ताकि बेहतर प्रबन्धन व सेवा संचालन पर फोकस किया जा सके। हमें एक बेहतर योजना व क्रियान्वयन की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने हेतु विभिन्न योजनाएं संचालित की गई है। मेरे बुर्जुग मेरे तीर्थ जैसी योजनाओं से परिवहन निगम को एक निश्चित ग्राहक वर्ग मिला। उन्होंने कहा कि नौकरी हेतु विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं में भाग लेने वाले राज्य के परीक्षार्थियो से परिवहन निगम की बसों में आधा किराया वसूले जाने पर विचार किया जा सकता है जिससे की संघर्षशील बेरोजगार युवाओं की सहायता के साथ ही निगम को भी सहायता मिलेगी। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि प्रथम चरण में 483 बसों के संचालन व भविष्य में इन बसों को जीपीएस, वाई फाई, टैªकिंग आदि सुविधाओं से युक्त करने की योजनाओं से हमारे आत्मविश्वास में वृद्धि हुई है, अब हमे लाभ कमाने का सकंल्प लेना होगा। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री दिनेश अग्रवाल, नवप्रभात, परिवहन निगम बोर्ड के उपाध्यक्ष अनिल गुप्ता, सचिव परिवहन सी0 एस0 नपच्याल आदि उपस्थित थे।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments