चंपावत ग्राउंड जीरो पर मिसेज गीता धामी के वीडियो वायरल

चंपावत ग्राउंड जीरो पर मिसेज गीता धामी सोशल मीडिया पर वायरल

चंपावत ग्राउंड जीरो पर मिसेज गीता धामी के वीडियो वायरल देहरादून उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की मिसेज गीता धामी तीन दिनों के लिए बच्चो संग चंपावत विधानसभा में महिला समूह से लेकर यहाँ के धार्मिक मंदिरो में पहुंची है वो जंगल में मॉर्निंग वाक से लेकर सुन्दर पहाड़ो की वीडियो पोस्ट करते हुए सुन्दर चंपावत को दिखाने की कोशिश कर रही है

प्रकृति की गोंद में बसा चंपावत अद्भुत प्राकृतिक सौंदर्य से आच्छादित है। यह हम सबकी जिम्मेदारी है कि हम इसको संरक्षित रखें और आने वाली पीढ़ी को पर्यावरण के प्रति समर्पण का संदेश दें। सर्किट हाउस से आगे ललुवा पानी वाली जगह से उनका वीडियो काफी पसंद किया गया है गीता पुष्कर धामी हमेशा महिला वर्ग से लेकर युवा वर्ग में पसंद की जाती है।

ऐसे में गीता धामी के कई वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहे है सोशल कॉज से जुड़े वीडियो लोगो को पसंद आ रहे है जबकि इंस्टा पर पोस्ट रील उनके फैन्स पसंद कर रहे है चंपावत उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को उपचुनाव में सबसे अधिक जीत खटीमा से हार के बाद दर्ज करवाने वाली विधानसभा है यहाँ के लोगो का प्यार धामी पर इतना बरसा मतदान आज भी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मिलने को बेताब रहते है लेकिन अधिक समय विधानसभा में नहीं दे पाने के चलते धामी ने दो दो जगह अपने कैंप ऑफिस खोले है यहाँ रोज़ाना जनता की भीड़ देखी जा सकती है।

चम्पावत में गीता धामी ने अस्पताल से लेकर कई जगह पर निरिक्षण कर जाना हकीकत क्या है तब पता चला विधानसभा में कई ऐसी परेशानी है जिसका हल किया जाना जरुरी है चंपावत में ग्रामीण क्षेत्रों में डोली से आने वाली बुजुर्गों और गर्भवतियों का दर्द समझने की जरूरत है। स्वास्थ्य सुविधाएं मजबूत होंगी तो उसका लाभ सबको मिलेगा मैडम। यह बातें सीएम की पत्नी गीता धामी के जिला अस्पताल में निरीक्षण के दौरान तीमारदारों ने कहीं।

मंगलवार को सीएम की पत्नी गीता धामी ने जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। सीएम की पत्नी को देखकर तीमारदारों और स्थानीय लोगों का दर्द छलक पड़ा। उन्होंने कहा कि जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव है। अस्पतालों में विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी है। विशेषज्ञ चिकित्सकों के अभाव में सामान्य मरीजों को भी कई बार हायर सेंटर रेफर कर दिया जाता है। इस दौरान लोगों ने पेयजल की समस्या भी उठाई।

सीएम की पत्नी को समस्या को गंभीरता से लेते हुए सीएमओ डॉ. केके अग्रवाल और पीएमएस डॉ. पीएस खोलिया से व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने को कहा। उन्होंने अस्पताल में भर्ती मरीजों का हाल जाना और उन्हें फल बांटे। अस्पताल में चल रहे दिव्यांग पुनर्वास शिविर में जाकर लोगों से बात की। मुख्यमंत्री की पत्नी के अस्पताल पहुंचने पर जहां लोग समस्याएं गिनाने लगे वहीं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी अलर्ट हो गए।

यहां जिला पंचायत अध्यक्ष ज्योति राय, जिला महामंत्री मुकेश कलखुडिया, ब्लॉक प्रमुख रेखा देवी, विनीता फर्त्याल, विधायक प्रतिनिधि प्रकाश तिवारी, गोविंद सामंत, सूरज प्रहरी, गौरव पांडेय, कैलाश अधिकारी, नोडल अधिकारी सीएम कैंप कार्यालय केएस बृजवाल आदि मौजूद रहे। इससे पूर्व उन्होंने बालेश्वर मंदिर में दर्शन कर पूजा अर्चना की। वहीं नर्सिंग कॉलेज परिसर में पौधरोपण किया।