UTTARAKHAND JAL VIDHUT JE YASHPAL MEHAR SUSPEND

0
363

UTTARAKHAND JAL VIDHUT JE YASHPAL MEHAR SUSPEND: उत्तराखंड जल विधुत सहायक अभियन्ता यषपाल मेहर निलंबित


विकाशनगर, उत्तराखंड जल विघुत निगम के डाकपत्थर स्थित बैराज पर तैनात सहायक अभियन्ता यषपाल मेहर को नए साल पर अपने अधिकारी का सर फोड़ कर मामले में बड़ा झटका लगा है विभाग ने तत्काल प्रभाव से कारवाही करते हुए यशपाल मेहर को निलंबित करते हुए जांच कमेटी बना दी है उत्तराखंड जल विधुत विभाग में कई दिनों से फरार चल रहे यशपाल मेहर ने कोर्ट से अपनी पुलिस मुकदमे पर बेल भी ले ली है


विदित हो कि उत्तराखण्ड जल विघुत निगम के डाकपत्थर स्थित बैराज पर तैनात सहायक अभियन्ता यषपाल मेहर ने नये साल की देर रात को अपनी ही विभाग के सीनियर अधिकारी मौहम्मद अफजाल का बिना किसी वजह के पत्थर मारकर सिर फोड डाला था, इतना ही नहीं आरोपी ने अधिषासी अभियन्ता की कार को भी तोडफोड डाला था, जिसके बाद लहूलुहान स्थिती में बेसुध अधिषासी अभियन्ता को गम्भीर हालत में स्थानीय लोगो ने उठाकर अस्पताल पहुॅचवाया था और अगले ही दिन पीडीत अधिषासी अभियंता ने विभागीय उच्चाधिकारीयों को मामले से अवगत कराते हुये आरोपी सहायक अभियंता के खिलाफ पुलिस को तहरीर देकर उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया था जिसके बाद से आरोपी सहायक अभियंता यषपाल मेहर घटना के बाद से फरार चल रहा था।

मामले की गम्भीरता को देखते हुये प्रबन्ध निदेषक ने तत्काल प्रभाव से आरोपी यषपाल मेहर को निलंबित करते हुये उसे चिन्यालीसौड अटैच कर दिया है, वहीं पीडित अधिषासी अभियन्ता मौहम्मद अफजाल ने यह भी जानकारी दी कि वे मामले में पुलिस केस वापस नहीं ले रहें है इसलिये विभागीय कार्यवाहीं के साथ ही आरोपी एसडीओ यषपाल मेहर के खिलाफ पुलिस केस भी चलेगा और निष्चित ही उन्हें उम्मीद है कि पुलिस प्रषासन से भी उन्हें न्याय ही मिलेगा, हालांकी मिली जानकारी के अनुसार आरोपी एसडीओ यषपाल ने कोर्ट में सरेंडर करते हुये बेल पर रिहाई भी ले ली है, तो वहीं मामले में विभाग ने विभागीय जाॅच कमेटी भी गठित कर दी है जो मामले की तफतीष करते हुये यह तय करेगी कि आरोपी एसडीओ यषपाल मेहर का डिमोषन किया जायें, प्रमोषन पर रोक लगायी जायें या फिर विधी विधान एवं प्रावधान अनुसार ऐसे मामलो में कौन सी कार्यवाहीं की जायें जिससे कि अधिषासी अभियन्ता मौहम्मद अफजाल को पूरी तरह से इंसाफ मिल सकें, और विभाग की कटी हुयी नाक भी फिर से वापस जुड सकें, क्यों कि ये बात तो तय कि है इतनी बडी घटना ने पूरे विभाग को शर्मशार किया है इतने जिम्मेदार विभाग में ऐसा हत्यारा प्रवृत्ती का आरोपी ऐसे सम्मानित पद पर है ये बात हम नहीं कह रहें है ये तो क्षेत्र के जनप्रतिनिधि ही कह रहें है आईये सुनवाते है आपको कि क्या कहना है मामले में क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों काः-


आप नेता भास्कर चुग – यूजेवीएनएल एमडी को मामले में कार्यवाहीं के लिये धन्यवाद, लेकिन पुलिस को भी मामले में तत्काल ही आरोपी एसडीओ के खिलाफ दर्ज धाराओं में हत्या के प्रयास की धारा को भी बढाया जाना चाहिये क्योंकि ये एक जानलेवा हमला था, जिसकी मानव समाज में कोई माफि नहीं होनी चाहिये।
समाजसेवी प्रवीण षर्मा – मै यूजेवीएनएल की कार्यवाहीं से बिल्कुल भी संतुश्ट नहीं हूॅ आरोपी यषपाल मेहर को निलम्बित करने के बजायें तत्काल प्रभाव से नौकरी से बर्खास्त करना चाहिये था, क्यों कि जिस घटना को आरोपी एसडीओ ने यहाॅ अंजाम देते हुये अपने विभागीय उच्चाधिकारी का सिर फोडा है ऐसे आरोपी के खिलाफ सिर्फ निलंबन और हस्तानानतरण की कार्यवाहीं काफी नहीं है क्या गारण्टी है कि जहाॅ इस आरोपी एसडीओ को टरांसफर कर भेजा जा रहा है वहाॅ ये किसी दूसरे उच्चाधिकारी कि हत्या का प्रयास नहीं करेगा, ऐसे हिंसक आरोपी की सही जगह सिर्फ षुद्धोवाला जेल है।


रघुनाथ सिंह नेगी – विभाग ने निष्चित ही अराजकतानुमा गंदगी को साफ करने का काम किया है लेकिन मामले में सिर्फ इतनी ही कार्यवाहीं नहीं होनी चाहिये, विभाग को ऐसे आरोपी अधिकारी को बर्खास्त या कम से कम डिमोषन तो करना ही चाहिये ताकि इससे आमजन को भी पता चल सके कि विभाग उसी तरह से जीरो टौलरेंस पर काम कर रहा है जिस तरह की बडी बडी बातें हमारी प्रदेष सरकार करती है। ऐसी कार्यवाहीं को मै सिर्फ खानापूर्ति वाली और अपने स्टाफ कर्मचारी को बचाने या संरक्षण दिये जाने वाली कार्यवाहीं भर मानता हूॅ। उत्तराखंड जल विधुत निगम में हुई कारवाही के बाद ये मामला अभी भी तेजी से आगे चल रहा है बताया जा रहा की यशपाल मेहर के खिलाफ कारवाही किये जाने से पीड़ित पक्ष अभी आगे की कारवाही के लिए माँग कर रहा है ।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments