उत्तराखंड की जेलों में बंद कैदी भी लेंगे पहाड़ी व्यजनो का स्वाद

0
509

उत्तराखंड की जेलों में बंद कैदी भी लेंगे पहाड़ी व्यजनो का स्वाद
देहरादून उत्तराखंड की जेलों में बंद कैदी भी जल्द पहाड़ी व्यजनो का स्वाद ले पायेगे इस योजना को प्रदेश के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने जल्द पूरा किये जाने के निर्देश दिए है वही ये पहला अवसर होगा जब कैदी घर जैसे भोजन के साथ साथ व्यजनो का स्वाद ले सकेंगे हरदा की इस पहल को अधिकारी कितने समय में पूरा कर पायेगे इस को लेकर वक़्त का इंतज़ार किया जा रहा है
मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शुक्रवार को जेल विभाग की समीक्षा की। मुख्यमंत्री श्री रावत ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि सभी जेलों में अत्याधुनिक सुरक्षा उपकरण प्रयोग में लाये जाय। जेलों की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाय। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जेल में बंद बंदी रक्षकों के लिए स्वरोजगारपरक कार्यक्रम संचालित किये जाय। निजी क्षेत्र की स्वंयसेवी संस्थाओं के साथ मिलकर ठोस कार्ययोजना तैयार की जाय। उन्होने कहा कि जेलर व मुख्य विकास अधिकारी आपस में समन्वय कर स्थानीय उत्पादों को उपयोग में लाये। उन्होने आई जी डाॅ पी.वी.के प्रसाद को निर्देशित करते हुए कहा कि ऐसी कार्ययोजना बनाई जाये जिससे स्थानीय उत्पादों का भी जेलों में अधिक से अधिक उपयोग हो सके। जेलों के भोजनालयों में पहाड़ी व्यन्जनों को भी सम्मिलित किया जाय। इसके लिए दिशा-निर्देश जारी किये जाय। उन्होंने कहा कि सभी जेलो में रिक्त पदों का विवरण तैयार किया जाय। सितारगंज, हरिद्वार व देहरादून के जेलों को विशेष तौर पे आधुनिकृत करे। जनपद उत्तरकाशी, रूद्रप्रयाग, बागेश्वर एवं अल्मोड़ा में सब जेल बनाये जायेंगे। उन्होने कहा कि सितारगंज जेल की डीपीआर मुख्य सचिव के माध्यम से प्रस्तुत करें। उन्होंने अधीनस्थ चयन आयोग के माध्यम से होने वाली 400 बंदी रक्षको की भर्ती को शीघ्र करने के निर्देश दिये।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि जेल में बंद कैदियों से मिलने आने वाले उनके परिजनों को किसी भी प्रकार की कोई असुविधा नही होनी चाहिए। जेल परिसर में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाय। जेल में बंद कैदियों के लिए रिफरेशनमेंट कोर्स भी संचालित किये जाय। इसके अलावा कैदियों के रूचि अनुसार उनके लिए स्वरोजगार आधारित कार्यक्रम संचालित किये जाय।
इस अवसर पर मुख्य सचिव शत्रुघ्न सिंह, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव राकेश शर्मा, प्रमुख सचिव ऊजा डाॅ. उमाकांत पंवार, सचिव गृह एवं कारागार विनोद शर्मा, एडीजी राम सिंह मीणा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
bhadas4india देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल bhadas4india.com की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं। भड़ास फॉर इंडिया को आप भी लाइक कर के मजबूती प्रदान करने में सहयोग करे

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments