भाजपा सरकार ने बदला कांग्रेस सरकार की योजना का नाम Uttarakhand Government Schemes New 2017

0
311

भाजपा सरकार ने बदला कांग्रेस सरकार की योजना का नाम Uttarakhand Government Schemes New 2017

देहरादून सरकारों के बदलते ही योजनाओं का नाम भी बदल दिए जाने की परम्परा उत्तराखंड में देखी जा रही है राजनैतिक विजन के बजाये अपनी राजनैतिक पार्टी के विजन पर काम कर रही सरकारे अपने हिसाब से योजनाओं का नाम करण कर जनता और अपनी पार्टी के प्रति आस्था का मार्ग बनाती रही है।

उत्तराखंड में कांग्रेस सरकार के समय शुरू की गयी ‘ मेरे बुजुर्ग मेरे तीर्थ’’ योजना का नाम बदल कर अब उत्तराखंड सरकार ने ‘‘ पंडित दीनदयाल उपाध्याय मातृ-पितृ तीर्थाटन योजना’’ कर दिया है इस योजना का नाम बदल दिए जाने से लाभ लेने वाले लोगो के नियम में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है लेकिन योजना का नाम बदल दिया जाने से विभाग के लिए सरकारी धन में खर्चा जरूर बढ़ गया है राज्य सरकार राजनैतिक सोच से ऊपर उठ कर अगर योजनाओं का नामकरण करे तो इस तरह से परिवर्तन के लिए राजनैतिक विजन पर नहीं जाना होगा। 

मेरे बुजुर्ग मेरे तीर्थ’’ का बदला नाम ‘‘ पंडित दीनदयाल उपाध्याय मातृ-पितृ तीर्थाटन योजना’’ 

देहरादून प्र0 क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी देहरादून ने अवगत कराया है कि उत्तराखण्ड शासन पर्यटन विभाग द्वारा ‘‘ मेरे बुजुर्ग मेरे तीर्थ’’ योजना संचालित की जा रही है योजना में संशोधन व योजना क्षेत्र में विस्तार के साथ योजना का नाम ‘‘ पंडित दीनदयाल उपाध्याय मातृ-पितृ तीर्थाटन योजना’’ के नाम से संचालित करवाये जाने का निर्णय लिया गया है।

उन्होने बताया कि योजना के तहत पूर्व की भांति श्री बद्रीनाथ धाम, श्री गंगोत्री धाम, नानकमत्ता व रीठा-मीठा साहिब, निजामुद्दीन औलिया के अतिरिक्त कलियर शरीफ (हरिद्वार), ताडकेश्वर (पौड़ी), कालीमठ (रूद्रप्रयाग), जागेश्वर (अल्मोड़ा), गैराड गोलू (बागेश्वर), गंगोलीहाट (पिथौरागढ) आदि को सम्मिलित करते हुए 65 वर्ष या 65 वर्ष से अधिक आयु के इच्छुक वरिष्ठ नागरिकों को (यात्रा पर जाने वाले बुजुर्ग दम्पति में से पति अथवा पत्नी में से किसी एक की आयु 65 वर्ष से कम होने पर उन्हे भी यात्रा का सम्पूर्ण लाभ प्रदान किया जायेगा) सम्बन्धित धाम/तीर्थ स्थल हेतु चयनित कर निकट भविष्य में यात्रा पर भेजा जाना है। योजना के अन्तर्गत जिन बुजुर्गों द्वारा आयकर रिटर्न नही भरा जाता है और उनके परिवार की आय के कोई विशेष साधन नही है, उन्हे ही इस योजना से लाभान्वित करने का निर्णय लिया गया है।

उन्होेने समस्त उप जिलाधिकारियों एवं खण्ड विकास अधिकारियों से अनुरोध किया है कि अपने क्षेत्रान्तर्गत ऐसे वरिष्ठ नागरिकों को जो उक्त वर्णित धामों एवं तीर्थ स्थलों में किसी एक धाम /तीर्थ स्थल हेतु चयनित कर शीर्ष प्राथमिकता के आधार पर फार्म भरवाते हुए चयनित बुजुर्गों का विवरण क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी कार्यालय को ई-मेल rtotourismddn@gmail.com पर भी उपलब्ध करायें। वरिष्ठ नागरिकों द्वार स्वस्थता प्रमाण पत्र के साथ आयु पहचान एवं स्थायी निवास की पुष्टि सम्बन्धी प्रपत्र भी आवेदन के साथ दें। यात्रा पर जाने हेतु प्रथम आवत प्रथम पावत के आधार पर चयन किया जायेगा।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments