उत्तराखंड जंगलों में लगी आग पर वन विभाग फ़ैल

0
1313

उत्तराखंड जंगलों में लगी आग पर वन विभाग फ़ैल
देहरादून उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग को जहां वायु सेना के जहाजों से काबू किये जाने का काम किया जा रहा है वही राज्य के जंगलों में वन अधिकारी जंगलों में लगने वाली आग पर काबू पाने में फ़ैल साबित हुए है राज्य में हर साल इस तरह जंगलों में आग का कहर रहता है लेकिन इस के बाद भी लाखो की वन सम्पदा को बचाए जाने की कोई पहल पूर्व से नहीं की जाती सिर्फ कागजो में इंतजाम दिखा कर अधिकारी अपनी ड्यूटी को अंजाम देते आये है उत्तराखंड में आग से हर साल जहां वन सम्पदा को नुकसान होता है वही इस साल राज्य में अब तक करीब दस से जयदा लोगो की मौत जलकर हो चुकी है वही कई पशु इस आग की भेट चढ़ चुके है प्रदेश के इतिहास में यह पहला अवसर है, जब वनाग्नि बुझाने के लिए हेलीकॉप्टर का उपयोग किया जा रहा है। राज्यपाल डॉ. केके पॉल की पहल पर बीते रोज वायुसेना का एक- एक एमआइ-17 हेलीकॉप्टर पौड़ी जिले के श्रीनगर और नैनीताल के भवाली पहुंचा।

राज्य में जंगलों के अंदर जहां तस्कर अपना कारोबार अंजाम देते रहे है वही जंगलों से बड़े पैमाने पर हाथियों के दांतों से लेकर खाल का कारोबार भी बड़े पैमाने पर अंजाम दिया जाता है कई बार तस्करों को पकड़ कर बड़ी कामयाबी को अंजाम दिया जा चूका है लेकिन इस के बाद भी अभी भी तस्करों के निशाने पर उत्तराखंड के जंगलों में जानवर बने हुए है इस कारोबार में विभाग की मिलीभगत की बाते भी समय समय पर सामने आती रही है यहाँ के जंगलों को हमेशा वन तस्कर अपना निशाना बनाते रहे है बड़े बड़े तस्करों का यहाँ अपना आशियाना रहा है

बीजेपी अध्य्क्ष का जन्मदिवस अग्नि दिवस के रूप में मनाया
उत्तराखंड के बीजेपी अध्य्क्ष का जन्मदिवस भी राज्य में अग्नि दिवस के रूप में मनाया गया भाजपा के प्रदेश भवन में अजय भट्ट ने भी राज्य में जंगलों में लग रही आग को दुखद बताया और कहा की अपने जन्मदिवस को वो अग्नि दिवस के रूप में मना रहे है उन्होंने अपना 56 जन्मदिवस अग्नि दिवस के रूप मनाया जहां कई भाजपा नेता भी मौजूद रहे

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments