उत्तराखंड में बरसाती मेढक की तरह हो रही दावेदारी हाई कमान फार्मूला होगा लागू

0
665

उत्तराखंड में बरसाती मेढक की तरह हो रही दावेदारी हाई कमान फार्मूला होगा लागू 

देहरादून उत्तराखंड में विधानसभा चुनावो की आहत नजदीक आते आते चुनावी महाभारत में अपनी अपनी राजनैतिक जमीन पर पहलवानी दीखाने वाले राजनेता विधानसभा में जुट गए नज़र आ रहे है उत्तराखंड में चुनाव नजदीक आते ही इस तरह के बरसाती मेढक रुपी नेता भी चुनाव लड़ने के लिए अपना आवेदन जहा कांग्रेस से लेकर दूसरे भाजपा सपा बसपा और बाकि राजनैतिक दलों में करते नज़र आ रहे है जिनका राजनैतिक वजूद विधायक का चुनाव लड़ना तो बहुत दूर की कोड़ी होगा वो अपने यहाँ से वार्ड मेंबर या ग्राम प्रधान का चुनाव लड़ने की हैसियत भी नहीं रखते उत्तराखंड में अभी तक सबसे अधिक कांग्रेस में आवेदन कांग्रेसी नेतायो ने किये है वो कही भी दिल्ली के हाई कमान फार्मूले पर फ़ीट नहीं बैठ रहे है वही भाजपा में अभी तक आवेदन किये जाने का कोई फार्मूला ईजाद नहीं किया गया है लेकिन यहाँ भी अपनी अपनी राजनैतिक जमीन को पाने के किये कसरत तेज होती नज़र आ रही है भाजपा में उत्तराखंड के अंदर अभी तक कई सिटिंग विधायको का टिकट तक पक्का नहीं बताया जा रहा क्यों की भाजपा वहाँ से अपने ऐसे उम्मीदवार को चुनावी समर में उतारे जाने का प्लान बना चुकी है जो जनता के बीच जीत दर्ज किये जाने का मादा रखते है भाजपा के अंदर कई सिटिंग विधायक आगामी होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत की चोखट पर नहीं पहुच पा रहे जिस को लेकर भाजपा ने उन सीट पर अपने दूसरे उम्मीदवार को अपनी राजनैतिक जमीन पर खड़ा करने के लिए गोपनीय रूप से उतार दिया है यही कारन है की भाजपा के कई विधायक अपनी हार के डर से घर बदल लिए जाने पर मंथन कर रहे है उधम सिंह नगर में भाजपा के विधायको पर भी हार का खोफ साफ तोर पर देखा जा सकता है यहाँ पर कांग्रेस के पास आने के लिए काफी भाजपा के लोग लगे हुए है वही कुछ कांग्रेसी भाजपा की तरफ भी जाने को आतुर दिखयी दे रहे है

महाजन भाजपा या बसपा की करेगे सवारी

गदरपुर विधानसभा सीट से टिकट की दावेदारी कर रहे प्रेमा नन्द महाजन भाजपा या बसपा की राह पकड़ सकते है बताया जा राह है की वो गदरपुर से टिकट की दावेदारी कर रहे है लेकिन बीते दिनों दिनेशपुर में बंगाली समुदाये के एक प्रोग्राम में मुख्यमंत्री हरीश रावत के न आने के बाद से वो नाराज़ बताये जा रहे है हालकि उनकी मुलाकात मुख्यमंत्री हरीश रावत से बीजापुर में हो चुकी है उत्तराखंड में कांग्रेस में भी काफी लोग वर्तमान में नाराज़ बताये जा रहे है यही नहीं हल्द्वानी से विधायक और सरकार में मंत्री इंद्रा ह्रदेश और प्रकाश जोशी के बीच भी राजनैतिक लड़ाई सतह पर आ चुकी है इस लड़ाई की आवाज़ देहरादून पहुची प्रदेश प्रभारी अम्बिका सोनी के सामने भी खुलकर आ गयी थी हल्द्वानी के एक प्रोग्राम में मंच पर जगह न मिल पाने को लेकर प्रकाश जोशी नाराज़ हो गए थे जब की उनको इंद्रा का काफी करीबी कहा जाता था कुल मिलाकर उत्तराखंड की राजनैतिक होने वाली २०१७ की महाभारत में कांग्रेस और भाजपा के बीच युद्ध का परिणाम काफी चोकाने वाला होने वाला है किसी एक दल को उत्तराखंड में यहाँ की जनता अपना समर्थन देती हुई नज़र आएगी इसी तरह के संकेत राजनैतिक पंडितो की तरफ से भी आते नज़र आ रहे है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments