उत्तराखंड मुख्यमंत्री को क्लीनचीट से क्लीन बोल्ड विपक्ष

0
225

उत्तराखंड मुख्यमंत्री को क्लीनचीट से क्लीन बोल्ड विपक्ष Uttarakhand cm travendra rawat cleen chit उत्तराखंड मुख्यमंत्री को क्लीनचीट से क्लीन बोल्ड विपक्षदेहरादून उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत को विधानसभा समिति रिपोर्ट में क्लीनचीट दी गयी है भाजपा की तत्कालीन सरकार के मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के समय इस मामले को लेकर आरोप लगे थे की उत्तराखंड में ढेचा बीज घोटाला किया गया है हालकि उस समय वर्तमान मुख्यमंत्री कृषि मंत्री थे इस मामले को लेकर विधानसभा की प्रवर समिति अपनी जांच भी कर चुकी थी

विधानसभा में पेश की गयी रिपोर्ट में राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत और सचिव ॐ प्रकाश को क्लीन चीट मिल जाने से विपक्ष क्लीन बोल्ड हो गया है
ढैंचा बीच खरीद घोटाले के मामले में त्रिपाठी आयोग की रिपोर्ट पर सरकार की एक्शन टेकन रिपोर्ट, लोकायुक्त विधेयक व उत्तराखंड लोकसेवकों के वार्षिक स्थानांतरण विधेयकों को प्रवर समितियों की संस्तुतियों के साथ गुरुवार देर रात्रि सदन के पटल पर रखा गया।

क्या था ढेचा बीज मामला
वर्ष 2005-06 में कृषि विभाग ने प्रदेश में खरीफ की फसल को बढ़ावा देने के लिए ढैंचा बीज वितरण करने की योजना बनाई। इसके क्रम में तत्कालीन कृषि निदेशक ने योजना को मूर्त रूप देने के लिए विभाग को निर्देश जारी किए।
इस दौरान ऊधमसिंह नगर, देहरादून व चंपावत में तकरीबन 15,000 कुंतल ढैंचा बीज की आवश्यकता बताते हुए टेंडर जारी कराए गए। आरोप यह लगे की यह टेंडर 60 फीसद से अधिक दर पर दिए गए। इसके बाद वर्ष 2010 में एक निजी कंपनी को बिना टेंडर प्रक्रिया अपनाए बीज आपूर्ति का भी ठेका दे दिया गया।
मामले उछलने पर कांग्रेस सरकार ने इसकी जांच त्रिपाठी आयोग को सौंपी थी। 2014 में आयोग की ओर से रिपोर्ट सरकार को सौंपी गई। तब से अब तक इस मामले में सरकार ने एटीआर को सदन के पटल पर नहीं रखा था। उत्तराखंड में भाजपा सरकार ने अपनी रिपोर्ट सदन के पटल पर रखी है जिस में राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत को क्लीनचीट दी गयी है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments