UPSSSC: भर्ती परीक्षा पेपर लीक दस गिरफ्तार

0
122

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में नलकूप चालक भर्ती परीक्षा UPSSSC का शनिवार को पेपर लीक होने के बाद परीक्षा को निरस्त कर दिया गया है जिसको लेकर हज़ारो की संख्या में परीक्षा केंद्र पहुंचे अभ्यर्थियों ने रविवार को कई जगह पर विरोध करते हुए प्रदर्शन किया गया है उत्तर प्रदेश में नलकूप चालक भर्ती परीक्षा रविवार को आयोजित होने थी लेकिन शनिवार को ही इसका पेपर सोशल मीडिया पर वायरल होना शुरू हो गया था जिसके बाद आयोग ने जब जांच की तो पता चला जो पेपर रविवार को होना है वही वायरल किया जा रहा है जिसके बाद परीक्षा को निरस्त कर दिया गया है जिसकी आगे की तारीख का अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है।

नलकूप चालक परीक्षा UPSSSC 3210 पदों के लिए प्रदेश के आठ जिलों में आयोजित होनी थी। इसके लिए दो लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। आयोग ने परीक्षा संपन्न कराने की पूरी तैयारी कर ली थी। आगरा में 37 केंद्र (17731 परीक्षार्थी), बरेली में 22 केंद्र (10908 परीक्षार्थी), इलाहाबाद में 26 केंद्र (12636 परीक्षार्थी), गोरखपुर में 22 केंद्र (12272 परीक्षार्थी), कानपुर नगर में 64 केंद्र (31530 परीक्षार्थी), वाराणसी में 69 केंद्र (42349 परीक्षार्थी), लखनऊ में 120 केंद्र (60743 परीक्षार्थी) और मेरठ में 34 केंद्र (17207 परीक्षार्थी) केंद्र बनाए गए थे। लखनऊ, मेरठ, कानपुर, इलाहाबाद, वाराणसी, आगरा, गोरखपुर व बरेली में पर्यवेक्षक भी भेजे जा चुके थे।

प्रदेश में नलकूप चालक भर्ती परीक्षा UPSSSC का विज्ञापन 2016 में जारी हुआ था। पहले इसमें स्क्रीनिंग परीक्षा के बाद साक्षात्कार के जरिये चयन होना था। भाजपा सरकार आने के बाद इसकी प्रक्रिया रोक दी गई थी। बाद में आयोग ने सिर्फ लिखित परीक्षा के आधार पर ही चयन का फैसला किया।

उत्तर प्रदेश में नलकूप चालक भर्ती परीक्षा UPSSSC के पेपर लीक मामले में पुलिस ने अभी तक दस लोगो को गिरफ्तार किया है जबकि इसका मास्टर माइंड सरकारी स्कूल का टीचर अमरोहा का बताया जा रहा है पुलिस इस मामले में अभी कुछ और लोगो की भी गिरफ़्तारी को लेकर कोशिश में जुटी हुई है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।