मौत की मधुशाला यूपी उत्तराखंड हिला डाला

0
61

देहरादून:  उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में मौत की मधुशाला के कहर से हिल जाने के बाद अब दोनों ही राज्यों में अवैध रूप से बेची जा रही शराब को लेकर अफसर भी नींद से जागे हैं. उत्तराखंड में प्रमुख सचिव गृह में प्रदेश के सभी जिला अधिकारियों को अपने अपने जनपदों में अवैध रूप से बेची जा रही शराब और कार्यवाही को लेकर सघन चेकिंग अभियान चलाने के दिशा निर्देश जारी किए हैं. उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में जहरीली शराब पीने से हुई मौतों के बाद यह मामला राजनीतिक गलियारों में तेजी से उठ गया है. उत्तराखंड में जहरीली शराब पीने से इतनी बड़ी संख्या में मरने वालों का आंकड़ा पहली बार देखने को मिला है और ऐसा नहीं है कि आबकारी विभाग के अफसरों को अवैध शराब बेची जाने की जानकारी नहीं रही होगी. इस मामले के बाद आबकारी विभाग सवालों के घेरे में जरूर है. अब यह मामला राजनीतिक रूप से तूल भी लेता हुआ नजर आ रहा है. मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कल जहरीली शराब की घटना में मृतकों के आश्रितों को 2-2 लाख रुपये व गम्भीर रूप से बीमार को 50-50 हजार रुपये की सहायता राशि उपलब्ध कराने के निर्देश दिये हैं.

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।