भाजपा के अनुशासन पर विधायक का समाजवादी तमाचा

0
287
भाजपा के अनुशासन पर विधायक का समाजवादी तमाचा 
देहरादून /किच्छा उत्तराखंड में पहले से ही कांग्रेस के मुख्यमंत्री हरीश रावत से सत्ता में आने की लड़ाई लड़ रही भाजपा को अपने ही लोगो के बीच विरोध का ढोल उनकी पोल खोलता नज़र आ रहा है यही वजह है की भाजपा के नेता आपस में लड़कर भाजपा के अनुशाशन की चौराहे पर धज्जियां उड़ा रहे है मामला भाजपा विधयाक राजेश शुक्ला से जुड़ा हुआ है इस मामले की गूँज जनता से लेकर भाजपा के बड़े नेतायो को सर दर्द देती नज़र आ रही है
उत्तराखंड में भाजपा विधायक राजेश शुक्ला के कारमाने से भाजपा हुई एक्सपोज़
भाजपा जहा अपने राजनैतिक दल को अनुशाषित कही जानें वाली पार्टी कहती है वही उत्तराखंड में चुनावी टिकट से पहले किच्छा विधायक राजेश शुक्ला का केंद्रीय नेतायो के सामने विरोध हुआ तो विधायक अपना आपा खो बैठे और ऐसा कारनामा  कर दिया की अब भाजपा को जवाब देने के लिए मुह चुराना पड़ रहा है  यह कोई पहला अवसर नहीं है जब भाजपा विधयाक राजेश इस तरह के कारनामो को अंजाम देते रहे है लेकिन किच्छा विधानसभा सीट पर जिस तरह भाजपा के लोगो ने विधायक को टिकट न दिए जाने की पैरवी की है वो कही न कही उनके खिलाफ हवा होने की तरफ संकेत है
किच्छा विधानसभा में भाजपा विधयाक राजेश शुक्ला का बाहुबली रूप देख कर उत्तर प्रदेश की याद ताज़ा हो जाती है ऐसा नहीं है की ये उनका पहला मामला है पूर्व  में भी उनका विवाद कांग्रेसी नेता तिलक राज बहड़ से भी रहा है आपसी विवाद इतना बड़ा है की दोनों की बीच कई बार मार पीट तक हो चुकी है लेकिन भाजपा विधयाक राजेश के खिलाफ इस बार मामला भाजपा हाई कमान के दरबार तक जा पंहुचा है उत्तराखंड में भाजपा विधायक का इस तरह का ये पहला मामला है जब किसी विधयाक ने अपने ही कार्यकर्तायों को इस तरह मार पीट कर अपने खिलाफ विरोध को खत्म करने का प्रयाश किया है लेकिन मामला और ज्यादा टूल पकड़ गया है
बता दे की स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्मारक के लोकार्पण समारोह के दौरान जो कुछ हुआ वह भाजपा के अनुशासन को तार-तार करने वाला था। हेलीपेड पर भाजपाइयों के बीच हुए इस दंगल को भाजपा ने गंभीरता से लिया है। अनुशासन समिति अध्यक्ष नवीन दुम्का व प्रदेश महामंत्री व लोकसभा क्षेत्र प्रभारी गजराज बिष्ट ने इस मामले में  दोनों पक्षों से वार्ता कर मामले की तह तक जाने का प्रयास किया।
 राजेश शुक्ला ने पन्त को हरवाया था उपचुनाव, विक्रांत  
 किच्छा विधानसभा में भाजपा विधायक के खिलाफ विक्रांत फुटेला ने बड़ा राजनैतिक हमला किया है उन्होंने कहा की भाजपा विधायक राजेश शुक्ला यहाँ पर राजनैतिक रूप से कमजोर हुए है और हमेशा भाजपा को नुकसान देते रहे है सितारगंज उपचुनाव में भी राजेश शुक्ला ने प्रकाश पन्त को चुनाव हरवाने में विधयाक की भूमिका थी और अब अपना राजनैतिक किला खोता देख कर वो बौखला गए है और भाजपा के लोगो के साथ मारपीट कर रहे है
 उत्तराखंड राजनीती के लिए सही नहीं कदम  
सुरेश अग्रवाल ने कहा की किच्छा में भाजपा के बीच हुई मारपीट राजनीति के लिए सही संकेत नहीं उत्तराखंड जैसे राज्य में इस तरह की बाते यहाँ की राजनीती को दूषित करती है और हेली पेड पर भाजपा के सभी कार्यकर्त्ता अपने नेतायो का स्वागत करने गए थे वहाँ पर भाजपा के जिलाध्य्क्ष शिव अरोरा सहित बाकि लोग भी थे किच्छा सीट पर जीत दर्ज करने वाले व्यक्ति को चुनाव में टिकट दिया जाना जरुरी है ताकि राज्य में भाजपा की सरकार बनायीं जा सके
Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments