त्रिवेंद्र रावत सरकार का विभीषण आखिर कौन

0
1060

देहरादून। उत्तराखंड में इन्वेस्टर समिट के एक वीडियो को वायरल किया जा रहा है मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ बैठे हुए उद्योग पति गौतम अडानी का ये वीडियो बीते दिवस कांग्रेस भी सोशल मीडिया पर वायरल कर चुकी थी जिसको लेकर अब इस मामले पर राजनीती शुरू हो गयी है उत्तराखंड निवेशसम्मेलन के बाद राज्य में करोड़ो रूपए के कारोबार का निवेश किये जाने को लेकर सरकार के साथ दो दिनों तक चले निवेश सम्मेलन में भले ही राज्य के मुखिया की पीठ देश के प्रधानमंत्री थोक गए हो लेकिन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के राजनैतिक विरोधी अब इस वीडियो को लेकर हमलावर नज़र आ रहे है।

उत्तराखंड में राज्य सरकार ने दो दिनों का निवेशसम्मेलन का आयोजन देहरादून के महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स में किया था जहा पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर बड़े उद्योग घराने पहुंचे थे ये निवेशसम्मेलन उत्तराखंड के लिए मील का पत्थर साबित हो सकता है लेकिन अगर निवेश हो जाये तभी ये संभव है लेकिन निवेश से पहले अब वीडियो को वायरल किया जाना शुरू कर दिया गया है आखिर वो त्रिवेंद्र रावत सरकार का विभीषण कौन है जिसके इशारे पर इस तरह के कारनामो को अंजाम दिया जा रहा है।

उत्तराखंड सरकार के लिए भी ये वीडियो आखिर अब कैसे बहार आया इसको लेकर सूचना विभाग भी अब सवालो के घेरे में है क्योकि जिस वीडियो को वायरल किया गया है वहाँ पर सिर्फ सूचना विभाग के आलावा किसी भी मीडिया को जाने की परमिशन नहीं थी कई अफसरों के साथ बैठे हुए राज्य के मुख्यमंत्री के साथ अडानी देहरादून में आने को लेकर अपने अनुभव साझा कर रहे थे ऐसे में सवाल ये भी उठता है इस वीडियो को वायरल किये जाने वाला जरूर कोई करीबी ही रहा होगा।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की जीरो टॉलरेंस में अभी तक ऐसा कोई दाग नहीं लगा है जिसको लेकर विपक्ष सरकार को उस मुद्दे पर घेर पाया हो यही वजह है अब मुख्यमंत्री के खिलाफ माहौल बनाये जाने के लिए इस वीडियो को उसी तरह से वायरल किया जा रहा है इस वीडियो को कांग्रेस के कई बड़े नेता से लेकर पूर्व मुख्यमंत्री के एक करीबी द्वारा भी सोशल मीडिया पर वायरल किया गया है जो ये बताने के लिए काफी है इस वीडियो का मकसद सिर्फ अडानी और मुख्यमंत्री को निशाने पर लिया जाना है आने वाले दिनों में मुख्यमंत्री के सलाहकारों को भी इस तरह की ख़बरों से लेकर वायरल वीडियो का सच पता लगाया जाना भी जरुरी है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।