कालीमठ में मुख्यमंत्री ने दिए ठेकदार के खिलाफ कारवाही के निर्देश

0
572

कालीमठ में मुख्यमंत्री ने दिए ठेकदार के खिलाफ कारवाही के निर्देश
हिमांशु पैन्यूली
देहरादून मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कविल्ठा में आयोजित त्रिदिवसीय महाकवि कालीदास सम्मेलन का शुभारम्भ करते हुए कालीमठ क्षेत्र के पौराणिक इतिहास पर प्रकाश डालते हुये कहा कि महाकवि कालीदास महान विद्वान थे और उनके काव्य ग्रंथों ने देश-दुनिया में अपनी पहचान बनाई है। काव्य क्षेत्र में शोध कार्य करने वाले साहित्यकारों को राज्य सरकार की तरफ से प्रोत्साहन दिया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री रावत ने शीतकालीन यात्रा को जनयात्रा में बदलने के साथ ही स्थानीय लोगों से भी अपने क्षेत्र के मठ-मंदिरों एवं तीर्थ स्थलों में दर्शन करने को कहा, जिससे पर्यटन एवं तीर्थाटन को बढ़ावा मिल सके।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि प्रदेश सरकार ने मंडुवा, झंगोरा, गहत, मारछा सहित अन्य नगदी उत्पादों के उत्पादन पर विशेष जोर दिया है। यदि पहाड़ी क्षेत्रों से हो रहे पलायन पर रोक लगानी है तो हमें खेती की और लौटने के साथ ही हस्तशिल्प पर भी ध्यान देना होगा। सरकार अब हिमालय दर्शन यात्रा भी शुरू कर रही है, जिसमें क्षेत्र को हवाई एंबुलेंस सेवा से भी जोड़ा जायेगा। उन्होंने कहा कि कालीमठ, मदमहेश्वर, तुंगनाथ सहित अन्य क्षेत्रों को भी केदारनाथ की तर्ज पर विकसित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि जनता के हित में सरकार ने अनेक योजनाओं का संचालन किया है। जनता को योजनाओं का लाभ उठाना चाहिए। कालीमठ क्षेत्र के निरीक्षण के दौरान सड़क, पुल की बदहाल स्थिति पर मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी डाॅ राघव लंगर को क्षेत्र में कार्य कर रहे ठेकेदार के विरूद्ध कार्रवाई करने के निर्देश दिये।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री हरीश रावत ने हाईस्कूल कालीमठ को इंटरमीडिएट में उच्चीकृत करने, कालीमठ में पेयजल समस्या को दूर करने के लिये पेयजल योजना के लिये सर्वेक्षण करने, कालिदास संस्कृत शोध केन्द्र की स्थापना के लिये प्रारूप तैयार करने, संस्कृत शोध पुरस्कार योजना का संचालन, कालीमठ में शारदीय नवरात्रा के दौरान लगने वाले मेले के लिये अनुदान उपलब्ध कराने सहित कालीमठ क्षेत्रांतर्गत सहाकारी बैंकों को कम्प्यूटरीकृत करने की घोषणा की।
इस अवसर पर केदारनाथ की विधायक एवं संसदीय सचिव श्रीमती शैलारानी रावत ने कहा कि कविल्ठा महाकवि कालीदास की जन्म स्थली है। विधायक ने सीएम के सम्मुख कालीमठ में पुस्तकालय, वाचनालय की स्थापना करने के साथ ही सभी प्रसिद्ध मठ-मंदिरों में सोलर स्ट्रीट लाइट लगाने की मांग की। इस मौके पर राजकीय इंटर काॅलेज कोटमा की छात्राओं ने सरस्वती वंदना सहित अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शानदार प्रस्तुति भी दी। साथ ही कालीदास समिति की ओर से मुख्यमंत्री को अभिनंदन पत्र सौंपा गया।
मुख्यमंत्री हरीश रावत ने त्रिदिवसीय समारोह से पूर्व कालीमठ मंदिर दर्शन कर पूजा-अर्चना भी की। इस अवसर पर नगर पंचायत अध्यक्ष रीता पुष्पवाण, आंनद सिंह रावत, जिला सलाहकार निर्माण समिति के उपाध्यक्ष सूरज नेगी, ब्लाॅक प्रमुख संतलाल शाह, सुरेशानंद गौड़, बसंती रावत, विक्रम सिंह नेगी, जयप्रकाश गौड, जिलाधिकारी डाॅ राघव लंगर, सीओ मिथिलेश कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी सुनील कुमार, एसडीएम उखीमठ उत्तम सिंह चैहान, तहसीलदार जखोली सुनीलराज सहित अन्य विभागीय अधिकारी एवं क्षेत्रीय जनता उपस्थित थी।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments