पर्यटन की संभावनाओं को पंख लगाती टिहरी झील पर कैबिनेट बैठक

0
158

पर्यटन की संभावनाओं को पंख लगाती, टिहरी झील पर कैबिनेट बैठक:Tehri Lake Cabinet Mitting Uttarakhand Goverment

टिहरी उत्तराखंड में पर्यटन की संभावनाओं पर फोकस करते हुए राज्य सरकार की टिहरी में आयोजित कैबिनेट बैठक यहाँ के पर्यटन की तरफ ध्यान खींच लाने वाली कोशिश के रूप में नज़र आयी है उत्तराखंड में पर्यटन को लेकर राज्य सरकार की इस तरह की ये बैठक आने वाले दिनों में कारगर साबित होगी इस तरह की आशा राज्य सरकार को भी है माना जा रहा है इस तरह की आयोजित होने वाली कैबिनेट बैठक अगर राज्य सरकार उत्तराखंड के ऐसे पर्यटन जगह पर आयोजित करे जहा पर लोगो का ध्यान खीचा जा सकता है तो उत्तराखंड में आने वाले पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और राज्य सरकार को बिना प्रचार के यहाँ पर टूरिस्ट की संख्या में भी इजाफा किया जा सकता है।

उत्तराखंड के लिए बुधवार का दिन ऐतिहासिक हो गया । पहली बार सरकार की कैबिनेट बैठक टिहरी झील में पानी के ऊपर आयोजित हुई टिहरी झील में पर्यटन को बढ़ावा देने के मकसद से आयोजित हो रही इस बैठक में झील में पर्यटन विकास के लिए नई योजना बनायी जायेगी। इसके लिए फ्लोटिंग मरीना बोट को भव्य तरीके से सजाया गया था ।त्रिवेंद्र रावत सरकार टिहरी झील में पहली कैबिनेट बैठक बुधवार को आयोजित करने में सफल रही झील में फ्लोटिंग मैरीना वोट पर सरकार पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए कई महत्वपूर्ण फैसलों को मंजूरी दी गयी । उत्तराखंड के इतिहास में टिहरी झील में यह पहली कैबिनेट बैठक हुई । मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में होने वाली बैठक पूर्वाह्न लगभग 11 बजे शुरू हुई ।

दुनिया के सबसे बड़े बांधों में शामिल टिहरी डैम की 42 वर्ग किमी में फैली विशालकाय टिहरी झील पर्यटन विकास की असीम संभावनाओं को संजोये हुए हैं। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों ने यहां पर्यटन विकास के लिए करोड़ों रुपये अवस्थापना विकास पर खर्च भी किए हैं। झील में बार्ज बोट, फ्लोटिंग मरीना, इको हट्स से लेकर झील किनारे आलीशान होटल भी बनकर तैयार है। लेकिन पर्यटकों के अभाव में पर्यटन गतिविधियां ठप होने से सभी संसाधन बेकार पड़े हुए हैं। लेकिन अब टिहरी झील के लिए आने वाले दिनों में यहाँ पर्यटकों से गुलज़ार होती हुई टिहरी झील नज़र आएगी।

मुुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि सरकार ने कैबिनेट की अहम बैठक को टिहरी झील में आयोजित करने की अभिनव पहल की है। इस तरह की बैठकें राज्य के विकास के लिए बहुआयामी तरीके से फायदेमंद साबित होंगी। इस पहल के पीछे सरकार का स्पष्ट मकसद है कि जनता द्वारा चुनी गई सरकार जनता के द्वार जाकर अपने फैसले ले। देहरादून से बाहर राज्य के दूरस्थ से दूरस्थ क्षेत्रों को मुख्यधारा से जोड़ना भी इस पहल का हिस्सा है। टिहरी में कैबिनेट बैठक के माध्यम से न सिर्फ टिहरी के प्राकृतिक सौंदर्य और पर्यटन की संभावनाओं को दुनिया के सामने लाने का प्रयास किया जा रहा है, बल्कि टिहरी के गौरवशाली इतिहास और उज्जवल भविष्य से रूबरू होने का अवसर भी है। कुल मिलाकर टिहरी जैसे दुर्गम जिलों में पलायन और विस्थापन के जो अभिशाप लोगों ने झेले, उनका समाधान तलाशकर उसे टिहरी की ताकत बनाने की कोशिश करेंगे ताकि बदलाव की किरण को समाज के हर व्यक्ति तक पहुंचा सकें।

मुख्यमत्री त्रिवेन्द्र बुधवार को प्रातः 8ः50 पर जीएमवीएन हट्स, टिहरी लेक पहुंच कर टिहरी महोत्सव की तैयारियों का निरीक्षण किया । टिहरी में आयोजित की गयी कैबिनेट बैठक के माध्यम से राज्य सरकार की इस तरह की पहल का पर्यटन की तरफ ध्यान आकर्षित किये जाने की एक अच्छी कोशिश के रूप में देखा जा रहा है उत्तराखंड में बीजेपी की सरकार आने के बाद इस तरह की पहल प्रथम बार की गयी है जब देश दुनिया का ध्यान अपनी तरफ खीचा जा सके इस समय उत्तराखंड में चार धाम यात्रा तेज गति से चल रही है ऐसे समय में टिहरी में आयोजित की गयी कैबिनेट बैठक का फायदा राज्य सरकार को टिहरी के पर्यटन की तरफ लोगो का ध्यान आकर्षित किये जाने वाला कदम है ।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments