टनकपुर में कांग्रेस सरकार की चार साल की पाठशाला पर बोले हरीश रावत

0
401

टनकपुर में कांग्रेस सरकार की चार साल की पाठशाला पर बोले हरीश रावत
टनकपुर मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपने जन संवाद कार्यक्रम के तहत तुलसीराम चैराहा, टनकपुर पहुंचकर जनसभा को संबोधित करते हुए जनसमस्याएं सुनी तथा उनके निस्तारण के लिए आवश्यक कार्यवाही करने की बात कही। इस अवसर पर क्षेत्रीय जनता द्वारा मुख्यमंत्री श्री रावत का भव्य स्वागत किया गया।
जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री रावत ने विगत 4 वर्षों में राज्य सरकार द्वारा किये गए विकास कार्यों पर प्रकाश डालते हुए बताया कि जिले में डेढ दर्जन नई सडकें बनायी गयी है। अधिकतर सडकों को हाॅटमिक्स किया जा चुका है तथा राज्य सरकार आगामी वर्ष में 500 से ज्यादा नई सड़कों के निर्माण का कार्य शुरू करने जा रही है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने विगत 4 वर्षों में उत्तराखण्ड के विकास की बुनियाद रखी है। विगत वर्ष में राज्य में आयी भीषण आपदा से उभरने में राज्य सरकार के अथक प्रयासों एवं जनता के सहयोग से एक वर्ष के अन्दर सभी तीर्थ धामांे में यात्रा शुरू करायी गयी तथा शीतकाल में भी जोशीमठ, हर्सिल तथा मुन्स्यारी आदि स्थल पर्यटकों से गुलजार रहे। उन्होंने बताया कि हरिद्वार में अर्द्धकुम्भ मेले का भव्य आयोजन चल रहा है। जिसमें अभी तक 30 लाख लोग गंगा स्नान कर चुके है। उन्होंने क्षेत्रीय जनता से भी इस धार्मिक मेले में आकर पुण्य अर्जित करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि दूर दराज से आये मजदूरों का पंजीकरण कर उनके एवं उनके परिवार के भविष्य को सुरक्षित किया जा रहा है। खेती को बढ़ावा देने पर जोर देते हुए कहा कि किसानो को सस्ते दामों पर कृषि उपकरण उपकरण व अन्य जरूरी सामान उपलब्ध किया जा रहा है। तथा बिजली का सरचार्ज से ग्रसित किसानों का सरचार्ज माफ किया गया है। उन्होंने बताया कि उत्तराखण्ड पहला राज्य है, जिसने किसान पेंशन शुरू की है। स्थानीय उत्पाद गहत, मंडुवा, झंगोरा तथा चैलायी के उचित दाम दिये जा रहे है। राज्य सरकार दुग्ध उत्पादन, चैड़ी पत्ती वाले एवं फलदार पेड लगाने पर विशेष प्रात्साहन राशि दे रही है। नीति आयोग की रिपोर्ट के अनुसार देश में 6 राज्य बडी तेजी के साथ तरक्की कर रहे है। जिसमें उत्तराखण्ड भी शामिल है। मौजूदा समय में राज्य की वार्षिक विकास दर 13.33 प्रतिशत है और आगामी वर्ष 2018 तक विकास दर 18 प्रतिशत हासिल करने का लक्ष्य रखा है ताकि विकास के नये आयम पैदा कर अधिक से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जा सके।
उन्होने कहा कि सामाजिक सुरक्षा के अन्तर्गत राज्य सरकार मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना की राशि 50 हजार से बढ़ाकर 1.5 लाख करने जा रही है जिसमें गरीब व्यक्ति की हर छोटी-बड़ी बीमारियों का इलाज सम्भव हो सके। जगरिया, पुरोहित, कलाकार, बौना तथा सगुन गाने वाली महिलाओं को भी पेंशन के दायरे में लाया गया है। राष्ट्रीय खाद्यय सुरक्षा योजना से योजना से वंचित परिवारों को राज्य खाद्यय सुरक्षा योजना के अन्तर्गत लाभान्वित किया जा रहा है। उन्होने कहा कि डा. शैलेन्द्र मोहन सिंघल की देखरेख में किसानों के हित में फसल बीमा योजना की प्रीमीयम राशि कवर राज्य सरकार द्वारा किया जायेगा। उन्होने कहा कि प्रदेश में शिक्षा के विकास के लिए सभी आवश्यक स्थानों पर नये इंजीनियरिंग, आईटीआई व डीग्री काॅलेज खोले गये है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के बेरोजगारों के लिए 30 हजार नये पद सृजित किये जा रहे है। सभी विद्यालयों में अध्यापकों की तैनाती की गयी है। उन्होने शिक्षा के विकास पर जोर देते हुए कहा कि अभिभावकों को भी बच्चों पर विशेष ध्यान देना चाहिए क्योंकि परिवार बच्चों की प्राथमिक पाठशाला है। नगर पालिका के सेवानिवृत्त कर्मचारियों के देय में आ रही समस्याओं का समाधान करते हुए कहा कि नगर पालिका आधी धनराशि अपने संसाधनों से जुटाये तथा आधी धनराशि राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध करा दी जायेगी। बालिकाओं के विकास के लिए कन्याधन योजना, हमारी बेटी हमारा अभिमान आदि योजनाऐं संचालित है तथा लगातार दो ाकन्याओं को जन्म देने वाले मां को राज्य सरकार सम्मानित करेगी। उन्होने कहा कि आने वाले समय में चार विभागों में केवल महिलाओं की भर्ती की जायेगी तथा सभी विभागों के रिक्त पदों पर नियुक्ति की जायेगी। उन्होने जनता को बंसत पंचमी एवं होली की शुभकामनाऐं दी।
इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक एवं संसदीय सचिव हेमेश खर्कवाल ने समय-समय पर क्षेत्रीय भ्रमण एवं विकास कार्यो का निरीक्षण तथा विकास कार्यो में मुख्यमंत्री के अथक प्रयासों की प्रंशसा करते हुए उनका स्वागत किया। उन्होने क्षेत्र की आर्थिकी के प्रमुख साधन खनन में आ रही समस्याओं की जानकारी देते हुए बताया कि उचित भण्डार की सुविधा ना होने से खनन कार्य बाधित हो रहा है। उन्होने भण्डारण के उचित व्यवस्था करने के साथ दो स्टोन क्रेशर लगाने की मांग मुख्यमंत्री श्री रावत के समक्ष रखी। बनबसा एवं टनकपुर क्षेत्र में नजूल भूमि में कच्ची झोपडियों में निवास कर रहे गरीब लोगों को मालिकाना हक दिलाकर पक्के आवास मुहैया कराने की मांग की। उन्होने कहा कि टनकपुर को एक एज्यूकेशन हब के रूप में विकसित किया जायेगा। नंधौर सेंचूरी को जिम कार्बेट पार्क की तर्ज पर विकसित करने की बात कही, जिससे पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा मिले तथा अधिक से अधिक स्थानीय लोगों को रोजगार उपलब्ध हो सके। इस अवसर पर कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, महिला एवं बाल विकास अध्यक्षा निर्मला गहतोड़ी, नगर पालिका अध्यक्षा लक्ष्मी पाण्डेय ने भी अपने विचार रखें।
इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक एवं संसदीय सचिव हेमेश खर्कवाल, नगर पालिका अध्यक्षा लक्ष्मी पाण्डेय, कांग्रेस प्रदेश सचिव विमला सजवान सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।
bhadas4india देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल bhadas4india.com की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments