सोशल मीडिया पर भ्रामक सूचनाएं प्रतिबन्ध

0
97

चमोली। उत्तराखंड में सोशल मीडिया का उपयोग गलत जानकारी वायरल किये जाने के लिए किया जा रहा है देहरादून जनपद से लेकर पहाड़ी जनपदों में सोशल मीडिया के माध्यम से कई ऐसे जानकारी फेसबुक वत्सअप ग्रुप के माध्यम से वायरल की जाती है जिनका वास्तविक खबर से लेकर सही जानकारी से कोई सरोकार नहीं होता उत्तराखंड में तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल होने वाली गलत जानकारी को लेकर अब चमोली जिले में 10 दिसंबर तक कोई भी व्यक्ति सोशल मीडिया पर भ्रामक सूचनाएं नहीं फैला पाएगा। भ्रामक सूचनाएं फैलाने वालों पर प्रशासन ने सिकंजा कसते हुए कानूनी कार्रवाई किये जाने को लेकर आदेश जारी किये है।

मिली जानकारी के अनुसार चमोली जिले में 10 दिसंबर तक कोई भी व्यक्ति सोशल मीडिया पर भ्रामक सूचनाएं नहीं फैला पाएगा। भ्रामक सूचनाएं फैलाने वालों पर प्रशासन ने सिकंजा कसते हुए कानूनी कार्रवाई करने की भी चेतावनी दी है।

जिलाधिकारी स्वाति एस भदोरिया ने बताया कि राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम 1980 में दिए गए अधिकारों का प्रयोग करते हुए लोक व्यवस्था के तहत जनपद चमोली के अन्तर्गत सभी इंटरनेट एवं मैसे¨ज, सोशल मीडिया की सुविधाओं का प्रयोजन कर असामाजिक तत्वों के अफवाहों एवं भ्रामक सूचना को फैलाना निषिद्ध किया है। उन्होंने बताया कि यह आदेश 10 दिसंबर 2018 तक प्रभावी रहेगा।

जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि यह आदेश शांति भंग होने से रोकने के लिए किया गया है। आदेश की अवहेलना की परिस्थिति में दोषी व्यक्ति के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता के अन्तर्गत कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने इस आदेश को समस्त कार्यालयों के नोटिस बोर्ड एवं सार्वजनिक स्थानों पर भी चस्पा कराने के निर्देश दिए है।

बताया कि पिछले दिनों उत्तरकाशी में हुई घटनाओं और उनकी प्रतिक्रिया स्वरूप राज्य के अन्य भागों में भी ऐसी घटनाएं हुई है और होने की संभावना है। समाज विरोधी तत्व राज्य की सुरक्षा, लोक व्यवस्था और समुदाय के लिए दी गई सेवाओं के प्रतिकूल क्रियाकलापों में भाग ले रहे है। इसके अतिरिक्त असामाजिक तत्वों के सोशल मीडिया, वाटसएप, फेसबुक आदि के माध्यम से भारत बंद जैसी प्रतिक्रिया प्रसारित की जा रही है। इस प्रकार की घटित घटनाओं एवं वर्तमान परिस्थितियों के मद्देनजर जिले में लोक व्यवस्था को बनाये रखने के लिए यह आदेश पारित किया गया है।

उत्तराखण्ड में लगातार गलत जानकारी देकर उनको आगे भेजे जाने का काम तेजी से किया जा रहा है गलत जानकारी दिए जाने का ये काम ऐसे लोगो द्वारा अंजाम दिया जाता है जो इसको वायरल किये जाने के लिए इसका उपयोग करते है लगातार सोशल मीडिया पर इस तरह की गलत जानकारी परोसा जाना एक तरह से कई ऐसे लोगो की दिन चर्या का हिंसा बन गया है जो बिना जानकारी के ही इसका उपयोग कर रहे है अब ऐसे लोगो के खिलाफ चमोली जनपद में किया गया जिलाअधिकारी का आदेश ऐसी जानकारी को डालें जाने वालो के खिलाफ कारवाही करता हुआ नज़र आएगा।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments