सितारगंज में अवैध खनन पर बड़ी कारवाही खबर का हुआ असर

0
801

सितारगंज में अवैध खनन पर बड़ी कारवाही खबर का हुआ असर
धर्मेंद्र चौधरी
सितारगंज के साधुनगर गांव से निकलने वाली कैलाश नदी में वो खनिज चुगान के प्राइवेट पट्टे सरकार द्वारा आवंटित किये गए है लेकिन इन पट्टों की आड़ में अवैध खनन धड़ल्ले से जारी है जिसकी लगातार शिकायते प्रशासन को मिलती रहती है लेकिन प्रशासन अपनी जेब भरने में मस्त है ।राज्य में राष्ट्रपति शासन लगे होने के बाद जहाँ राज्यपाल द्वारा अवैध खनन पर अंकुश लगाने के निर्देश जिलाधिकारियों को दिए गए है तो वही जिलाधिकारियों द्वारा भी उप जिलाधिकारियों को अपने अपने क्षेत्रों में अवैध खनन पर रोक लगाने के लिए निर्देश दिए गए है लेकिन सितारगंज क्षेत्र ऐसा क्षेत्र है जहाँ प्रशासन आँख मूँद कर अवैध खनन करवा रहा है और जब कभी जिलाधिकारी को शिकायते पहुँचती है तो प्रशासन नाम मात्र की कार्यवाही कर खानापूर्ति करता दिखाई देता है और अवैध खनन करने वाले खनन माफिया लगातार बिना किसी रोकटोक के अवैध खनन करते रहते है ऐसा ही नजारा फिर देखने को मिला जब जिलाधिकारी के सख्त निर्देशों के बाद एसडीएम अनिल शुक्ला एवं खनन नरीक्षक राजपाल लेघा ने साधुनगर कैलाश नदी खनन क्षेत्र का नरीक्षण करने पहुंचे तो उससे पहले ही सरकार द्वारा नदी से उप खनिज के चुगान के लिए दिए गए पट्टों से पट्टाधारकों सहित पट्टों पर उपखनिज लेकर चलने वाले वाहन चालक वाहनों को छोड़ नरीक्षण के लिए पहुंची टीम से पहले वहाँ से गायब हो गए ।इसपर एसडीएम अनिल शुक्ला एवं खनन अधिकारी राजपाल लेघा ने 21 वाहनों को नदी से अवैध खनन करने पर उनके ऊपर कार्यवाही करते हुए रिपोर्ट तैयार की ।एसडीएम अनिल शुक्ला एवं राजपाल लेघा ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर कार्यवाही करते हुए नदी का नरीक्षण किया जिसपर पट्टा स्वामी मौके से फरार मिले और 21 वाहनों को अवैध खनन करते हुए पाया गया है इसपर पट्टेधारको के खिलाफ रिपोर्ट तैयार कर जिलाधिकारी को भेजी जायेगी और अर्थदंड बसूला जायेगा ।

वही बता दे कि एसडीएम एवं खनन विभाग द्वारा पाँच पट्टेधारको पर छः लाख रुपये का जुर्माना डालने की रिपोर्ट तैयार कर जिलाधिकारी को भेजी है ।इससे पहले भी अनेकों बार इन पट्टेधारकों पर लाखों रुपये का जुर्माना तो विभाग द्वारा डाला गया लेकिन आज तक कभी किसी पट्टेधारक से जुर्माना वसूला नहीं गया ।अब देखना होगा की इस बार डाला गया जुर्माना कितना वसूला जाता है या यह सिर्फ दिखावा मात्र कारवाही ही साबित होती है यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा ।वही करोडो रुपये के राजस्व की चोरी करने वाले इन खनन माफियाओं पर विभाग द्वारा छः लाख रुपये का जुर्माना डालने की रिपोर्ट एसडीएम एवं खनन विभाग द्वारा जिलाधिकारी को भेजना भी नगर में चर्चा का विषय बन गया है बता दे की भड़ास फॉर इंडिया ने बीते दिनों खनन को लेकर समाचार प्रकाशित किया था जिस के बाद इस तरह के बड़ी कारवाही को अंजाम दिया गया है वर्तमान में सितारगंज में  मलकीत सिंह, आन सिंह रावत ,फरीद खान ,सुरेश जोशी ,कुमाऊं मंडल विकास निगम के वर्तमान में खनन के ठेके है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments