क्षेत्र पंचायत कपकोट की बैठक सम्पन्न।

0
302

क्षेत्र पंचायत कपकोट की बैठक सम्पन्न।

बागेष्वर क्षेत्र पंचायत कपकोट की बैठक में सड़क, पानी, बिजली आदि समस्याओं का मुद्दा छाया रहा। अधिकांष जनप्रतिनिधियों द्वारा पिछली बैठक के वाचन की कार्यवाही पर सवाल उठाते हुए कहा कि पिछली बैठक में विभिन्न समस्याओं पर सदन में प्राप्त षिकायतों पर कृत कार्यवाही पर उन्हें कोई जानकारी नहीं मिल पाई हैं।  विकास खण्ड सभागार कपकोट में ब्लाक प्रमुख मनोहर राम की अध्यक्षता में आयोजित क्षेत्र पंचायत की बैठक में मोटर मार्गो के निर्माण तथा उनके सुधारीकरण पर चर्चा करते हुए अधिकांष जनप्रतिनिधियों द्वारा स्वीकृत मोटर मार्गो के निर्माण कार्यो की धीमी प्रगति तथा निर्मार्णाधीन मोटर मार्गो में सिलिंग,नाली निर्माण तथा सुरक्षा दीवार पूर्ण न होने पर सवाल उठाये गये। जिसमें कपकोटकर्मी मोटर मार्ग में कार्य, पोथिंग मोटर मार्ग का निर्माण कार्य पूर्ण कराने की मांग की गई। ग्राम प्रधान बघर ने जिला योजना के तहत पुलिया निर्माण की मांग की गईं। भराडीसौंग मोटर मार्ग में स्लाईडिंग जोन पर सीसी मार्ग निर्माण पर जोर दिया गया। क्षेत्र पंचायत सदस्य गोगिना द्वारा किमू तक स्वीकृत मोटर मार्ग निर्माण कार्य षुरू न होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए षीघ्र कृत कार्यवाही से अवगत कराने की मांग की गई। भॅयूगडेरा मोटर मार्ग में डामरीकरण के बाद नाली निर्माण तथा कलमठों की सफाई न होने पर बरसात का पानी सडक में आने से मोटर मार्ग की स्थिति खराब बताई गई। ग्राम प्रधान सुमगढ ने सौंग से सुमगढ तक मोटर मार्ग निर्माण का प्रस्ताव प्रस्तुत करते हुए षीघ्र मोटर मार्ग निर्माण की मांग की गई। ग्राम प्रधान बाछम द्वारा सुमनधार से बाछम धार तक पैदल मार्ग में डैनजर जौन पर रैलिंग लगाने की मांग की गई। बैठक में ब्लाक प्रमुख ने विभागीय अधिकारियों को विभागीय योजनाओं की समुचित जानकारी जनप्रतिनिधियों को देने के निर्देष दिये। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष हरीष ऐठानी ने कार्यदायी संस्थाओं को निर्देषित करते हुए कहा कि कार्य की गुणवत्ता के साथ किसी प्रकार समझौता नहीं किया जायेगा, कहा अधिकारी जन आकांक्षाओं के अनुसार कार्यो को गुणवत्ता के साथ निर्धारित समयावधि में पूर्ण करना सुनिष्चित करें, इसमें किसी प्रकार की लापरवाही कतई बर्दाष्त नहीं होगी। जिलाधिकारी मंगेष घिल्डियाल ने अधिकारियों को सचेत करते हुए कहा कि वे जनप्रतिनिधियों के साथ सामंजस्य स्थापित कर क्षेत्र पंचायत बैठकों में प्राप्त समस्याओं का समय से निराकरण कर कृत कार्यवाही से जनप्रतिनिधियों को भी अवगत कराना सुनिष्चित करें। कहा कि बैठकों में जिला सतरीय अधिकारी पूरी जानकारी के साथ स्वंय मोैजूद रहें ताकि जन समस्याओं का तत्काल समाधान किया जा सके। उन्होंने कहा कि संविधान की व्यवस्था का पालन कर सदन की गरिमा को बनाये रखना सुनिष्चित करें। उन्होंने कहा कि प्रष्नों का सन्तोशजनक जवाब दें व्यवस्था बनाना सभी का दायित्व है। उन्होंने बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा उठाये गये सवालों का हल निकालकर तत्काल कार्यवाही सुनिष्चित करने के निर्देष अधिकारियों को दिये। जिलाधिकारी ने बैठक के उपरान्त विकास खण्ड परिसर में स्थापित इन्द्रा अम्मा केंटीन का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौेरान उन्होंने समूह की महिलाओं से वार्ता कर कैटिंन को सुव्यवस्थित ढंग से संचालित करने को कहा। बैठक में ज्येश्ठ प्रमुख हरीष षाही, कनिश्ठ प्रमुख गोकुलसिंह पंचपाल तथा अनेक क्षेत्र पंचायत सदस्य एवं ग्राम प्रधान सहित मुख्य विकास अधिकारी एस.एस.एस. पांगती, उपजिलाधिकारी कपकोट एन.एस. नगन्याल तथा अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments