सेक्स वर्कर्स डे क्यों है आज आपको पता है

0
294

सेक्स वर्कर्स डे क्यों है आज आपको पता है :Sex Worker Day Celebrated On 17 December Sex Workar Day

भारत में भले ही सेक्स वर्कर अपना कारोबार आज के दिन चलाती हो लेकिन इंडिया से बहार इस दिन को डे टू एंड वॉयलेंस अगेंस्ट सेक्स वर्कर्स डे के नाम से मनाया जाता है जिसके पीछे की वजह जान कर आप भी हैरान हो जायेगे हर साल आयोजित किये जाने वाला ये दिन हर कोई सेक्स वर्कर याद करके उनको याद करता है जिनको बेवजह मौत ने नींद सुला दिया गया था

हर साल 17 दिसंबर को सेक्स वर्कर के साथ होने वाली हिंसा का विरोध करते हुए इंटरनेशनल डे टू एंड वॉयलेंस अगेंस्ट सेक्स वर्कर्स डे मनाया जाता है। दरअसल गैरी लियोन रिज द्वारा सेक्स वर्कर के मर्डर को देखते हुए इन महिलाओं को हिंसा से बचाने के लिए इस दिन को मनाने की शुरूआत हुई। गैरी को ग्रीन रिवर किलर के नाम से जाना जाता है। गैरी ने 1980 से 1990 के बीच लगभग 48 महिलाओं का मर्डर किया। इन महिलाओं में से अधिकांश सेक्स वर्कर थीं। गैरी द्वारा किए गए पहले पांच मर्डर में महिला की लाश ग्रीन रिवर के किनारे मिली। इसलिए गैरी का नाम इसी नदी के नाम पर रखा गया।

कई महिलाओं के साथ गैरी ने संबंध बनाने के बाद उनका गला दबाकर मार डाला तो कुछ को उसने इससे भी दर्दनाक मौत दी। इन महिलाओं को मारने के बाद वह उन्हें जंगल में ले जाकर फेंक देता था। वहां गैरी महिलाओं की डेड बॉडी के साथ भी संबंध बनाता था। 30 नवंबर 2001 को चार महिलाओं का मर्डर करने के आरोप में गैरी को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार होने के बाद उसने 7 महिलाओं के मर्डर की बात भी स्वीकार की। फिर बाद में उसने 48 महिलाओं के मर्डर को स्वीकारा जिनमें से अधिकांश सेक्स वर्कर थीं।
इंडिया से बहार आज के दिन को सेक्स वर्कर डे टू एंड वॉयलेंस अगेंस्ट सेक्स वर्कर्स डे के नाम से मनाया जाता है लेकिन इसका भारत में कोई असर नहीं देखा जाता बल्कि उल्टा यहाँ पर सेक्स का कारोबार लगातार बढ़ता जा रहा है साल भर में करोड़ो रूपए से अधिक का हो चूका ये कारोबार अब विदेशो से आने वाली सेक्स वर्कर के कारण अधिक हो गया है मसाज पार्लर से लेकर स्पा सलून में भी अब सेक्स का कारोबार अंजाम दिया जा रहा है जो एक तरह से क़ानूनी नियम का उलघन है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments