एस्कॉर्ट्स सर्विस, सेक्स का ऑनलाइन कारोबार :SEX ONLINE ESCORTS SERVICE DEHRADUN

0
165

एस्कॉर्ट्स सर्विस, सेक्स का ऑनलाइन कारोबार:SEX ONLINE ESCORTS SERVICESEX ONLINE ESCORTS SERVICEदेहरादून /दिल्ली। ऑनलाइन परोसा जा रहा सेक्स का काला कारोबार अब एक तरह से नया कमाई का बड़ा जरिया बन गया है जिसका सालाना कारोबार करोड़ो में पहुंच गया है लेकिन इस तरह के कारोबार में उनको इसका अधिक फायदा नहीं पहुंच पाया है जिनके सहारे सेक्स के कारोबार को संचलित किया जाता है देश के अंदर संचार क्रांति के साथ साथ सेक्स के कारोबार में काफी इज़ाफ़ा हुआ है। ऑनलाइन सेक्स आज हर आम आदमी की पहुंच में आ गया है जिसका सबसे अधिक उपयोग संचार क्रांति को किया जा रहा है ऑनलाइन सेक्स का कारोबार एस्कॉर्ट्स सर्विस के माध्यम से संचलित किया जा रहा है ऐसा नहीं है इस काले कारोबार की जानकारी पुलिस को नहीं होती लेकिन पुलिस का महीना फिक्स होने के कारण इस कारोबार को संचलित करने वाले लोग हर महीने अपने कारोबार को चला रहे है।

देहरादून ऑनलाइन एस्कॉर्ट सर्विस ,मंसूरी एस्कॉर्ट्स सर्विस,चंडीगढ़ एस्कॉर्ट्स सर्विस,सहित कई ऐसी ऑनलाइन सेक्स का कारोबार परोस रही वेबसाइट है जिनका अपना कारोबार हर महीने लाखो रूपए का हो गया है दिल्ली में मसाज पार्लर से लेकर हर जगह ये कारोबार अपना ठिकाना बढ़ाता जा रहा है जहा ग्राहकों को उनकी जरुरत के हिसाब से सेक्स और बॉडी मसाज का फायदा उपलब्ध करवाया जाता है लेकिन ऑनलाइन संचालित किया जा रहा है ये कारोबार जब गैरकानूनी है तो पुलिस इन पर कारवाही को अंजाम क्यों नहीं देती क्या नोटों की चमक ने खाकी की आखो को अँधा धृतराष्ट्र बना दिया है।

एस्कॉर्ट्स सर्विस के माध्यम से कई बार पुलिस कई लोगो को पकड़ चुकी है लेकिन सिर्फ पकड़े जाने के बाद वही कारोबार अपनी पकड़ मजबूत कर लेता है लेकिन सवाल यही है क्या ऑनलाइन संचलित होने वाले सेक्स कारोबार पर पुलिस की नज़र नहीं जाती उत्तराखंड के देहरादून में एस्कॉर्ट्स सर्विस के माध्यम से सेक्स का कारोबार करने वाली कई दर्जन वेबसाइट अपना कारोबार कर रही है कई होटलो में जिसमे त्यागी रोड के कई होटल भी शामिल है जहा सेक्स के कारोबार को अंजाम दिया जा रहा है इसके आलावा राजपुर रोड,बस स्टैंड के पास भी एक होटल जहा इस कारोबार को बड़े पैमाने पर संचलित किया जा रहा है सेक्स का कारोबार करनी वाली कई लड़किया भी इस मकड़ जाल में अपनी जिंदगी का कई बार खिलोने बना चुकी है जिसकी कीमत 5000 से लेकर एक लाख तक मौजूद है।

सरकारी आकड़ो की बात करे तो राज्य गठन के बाद से लेकर आज तक उत्तराखंड में अनैतिक देह व्यपार के महज 139  मामले दर्ज़ किये गए जिसमे से सिर्फ ३० लोगो को सजा हुई बाकि अदालत से रिहा कर दिए गए ये तस्वीर बताये जाने के लिए काफी है पुलिस इस तरह के मामलो को लेकर मुस्तैद नज़र नहींआती जो आज ऑन लाइन सेक्स का खुला बाजार बन बड़ी मंडी बन गया है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments