हुड़दंगी नेता पर कठोर राठौर

0
204

हुड़दंगी नेता पर कठोर राठौर

विकासनगर/सेलाकुई : “सच प्रताड़ित हो सकता है लेकिन पराजित नहीं” इस तरह के स्लोगन अगर आपको किसी थाने की दीवार पर लगे हुए नजर आएं तो आप समझ ले यहां एक ईमानदार और कड़क मिजाज पुलिस अफसर की तैनाती जरूर हुई है. ऐसा ही एक मामला आज उस समय सामने आया जब ईमानदार छवि के पुलिस दरोगा पर भाजपा के कुछ कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाने की कोशिश की, जिसके बाद सिंघम रूपी पुलिस दरोगा ने भाजपा कार्यकर्ताओं की हेकड़ी बैठक में ही निकाल दी. हमेशा से ही अपनी कार्यशैली को लेकर ईमानदारी से काम करने वाले पुलिस अफसर नरेश राठौर को सभी ने समय-समय पर देखा होगा, लेकिन जिस तरह से आज उत्तराखंड में भाजपा की सरकार के बाद कुछ कार्यकर्ताओं ने अपने निजी कामों को पूरा न किए जाने की आवाज में आरोप लगाए हैं वह निश्चित रूप से एक इमानदार व्यक्ति के ऊपर गलत करार दिए जा रहे हैं.
सहसपुर पुलिस थाने में तैनात एसआई दीपक कुमार पर जिला योजना सदस्य और भाजपा के जिला उपाध्यक्ष सूरत सिंह चौहान से बदसलूकी और मारपीट करने का आरोप लगाते हुए भाजपा कार्यकर्ताओं ने सहसपुर पुलिस थाने में जमकर नारेबाजी कर हंगामा काटा। हंगामा इतना बढ़ा की हालात पुलिस कर्मियों और कार्यकर्ताओं के बीच टकराव तक पहुंच गए। विवाद बढ़ता देख पुलिस कर्मियों ने कार्यकर्ताओं को खदेड़ थाने से बाहर कर दिया। मौके पर ‌पहुंचे विकासनगर विधायक मुन्ना सिंह चौहान और सहसपुर विधायक सहदेव पुंडीर ने कार्यकर्ताओं को शांत कराया। बाद में सीओ पंकज गैरोला ने आरोपों के आधार पर एसआई दीपक कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। उन्होंने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।
जिला योजना सदस्य और भाजपा के जिला उपाध्यक्ष सूरत सिंह चौहान ने आरोप लगाया कि बुधवार को वह किसी मामले से संबंधित जानकारी लेने के लिए थाने पहुंचे। उस दौरान थाने में थानाध्यक्ष मौजूद नहीं थे। उन्होंने वहां मौजूद डे ऑफिसर दीपक कुमार से मामले की जानकारी मांगनी चाही तो उन्होंने उनके साथ बदसलूकी शुरू कर दी। आरोप लगाया कि जब उन्होंने मामले की शिकायत फोन पर विधायक मुन्ना सिंह चौहान से की ती तो एसआई ने उनका फोन छिन लिया। उनके साथ अभद्र भाषा का इस्तेेमाल किया गया। एसआई के इशारे पर वहां मौजूद सिपाहियों ने उन्हें पकड़ लिया। उन्हें झूठे मुकदमें में फंसाने की धमकी दी गई।
थाने में हंगामे की सूचना पर वहां सैकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं का जमावड़ा लग गया। उन्होंने पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर हंगामा शुरू कर दिया। उन्होंने दोषी एसआई के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। आरोप लगाया कि अक्सर एसआई दीपक कुमार द्वारा आमजन के साथ अभद्र व्यवहार किया जाता है। बाद में विधायक मुन्ना सिंह चौहान और सहदेव पुंडीर के आश्वासन पर कार्यकर्ता शांत हो गए। सीओ ने मामले की जांच कर उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया।
बेदाग छवि पर लगे आरोप तो भड़के एसओ :
मामले के संबंध में सीओ पंकज गैरोला थानाध्यक्ष कार्यालय में एसओ नरेश राठौर और कोतवाल एसएस नेगी की मौजूदगी में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ वार्ता कर रहे थे। इस दौरान वहां पर एक जनप्रतिनिधि पहुंच गए। उन्होंने थानाध्यक्ष पर आरोप लगाने शुरू कर दिए। उन्होंने थानाध्यक्ष पर पैसे लेकर खनन के वाहनों को छोड़ने के आरोप लगाए। जनप्रतिनिधि बात करते हुए इतने भड़क गए कि उन्हें अपनी भाषा पर भी सयंम नहीं रहा। जिस पर एसओ का गुस्सा फूट पड़ा। सीओ की मौजूदगी में ही जनप्रतिनिधि और एसओ के बीच में तू-तू मैं-मैं होने लगी। जिसके बाद पुलिस धक्का-मुक्की के बीच में जनप्रतिनिधि को बाहर ले कर आ गई। लेकिन इसके बाद भी एसओ का गुस्सा शांत नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि वह किसी भी जांच के लिए तैयार हैं। एसओ के भड़के गुस्से को देख वहां मौजूद पुलिस कर्मियों ने उन्हें पकड़ने की कोशिशक की। जिस पर उनकी शर्ट तक के बटन खुल गए। जिसके बाद हंगामा बढ़ता देख पुलिस ने जनप्रतिनिधि समेत अन्य भाजपा कार्यकर्ताओं को खदेड़ बाहर कर दिया। इस दौरान अन्य भाजपा कार्यकर्ताओं की भी पुलिस ने तीखी नोक-झोंक हुई। पुलिस एसओ को किसी तरह शांत कर अंदर ले गई।

बगले झांकने लगे जनप्रतिनिधि :

वार्ता के दौरान एक जनप्रतिनिधि ने एसओ पर जनप्रतिनिधियों और भाजपा कार्यकर्ताओं के फोन न उठाने का आरोप लगाया। जिस पर एसओ ने कहा कि पुलिस किसी के पर्सनल काम कराने के लिए नहीं है। आप लोग खनन की गाड़ियां छुड़ाने के लिए फोन करते हैं। पुलिस जनता की सेवा के लिए है। पर्सनल काम करने के लिए नहीं। जिस पर जनप्रतिनिधि बगले झांकने लगे और चुपचाप पीछे अपनी सीट पर जाकर बैठ गए।
प्राथमिक दोषों के आधार पर एसआई दीपक कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। मामले की जांच शुरू कर दी गई है। रिपोर्ट के आधार पर अग्रिम कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments