15 अगस्त पर अनाथ बच्चे नहीं रहे अनाथ, जब पहुंची राज्यमंत्री रेखा आर्य

0
121

15 अगस्त पर अनाथ बच्चे नहीं रहे अनाथ, जब पहुंची राज्यमंत्री रेखा आर्य  Rekha arya 15 August independence day 2017 15 अगस्त पर अनाथ बच्चे नहीं रहे अनाथ जब पहुंची राज्यमंत्री रेखा आर्य

देहरादून अनाथ का कोई नहीं होता ऐसा नहीं है उत्तराखंड के देहरादून में अनाथ बच्चो की खुशी का ठिकाना उस समय नहीं रहा जब राज्य सरकार में राज्य मंत्री रेखा आर्य स्वतंत्रतादिवस की 71वी वर्षगांठ पर बाल निकेतन देहरादून में अनाथ बच्चों के साथ स्वतंत्रता दिवस मनाये जाने के लिए उनके बीच पहुंची जिस के बाद वहाँ पर मिष्ठान व जलपान वितरित किया गया । वैसे इस तरह का प्रोग्राम हर साल आयोजित किया जाता रहा होगा लेकिन इस बार राज्य सरकार में राज्य मंत्री रेखा आर्य ने उन अनाथ बच्चो के साथ मिलकर आज़ादी का पर्व मनाया अपने बीच अपनों का प्यार पाकर बाल निकेतन देहरादून में अनाथ बच्चों को नहीं लगा की कोई उनका नहीं है।

मिली जानकारी के अनुसार राज्य सरकार में राज्य मंत्री रेखा आर्य १५ अगस्त के दिन देहरादून के बाल निकेतन में अनाथ बच्चो के साथ आज़ादी का कार्यक्रम मनाये जाने के लिए पहुंची थी जहा बोलते हुए राज्य मंत्री रेखा आर्य ने कहा की अनाथ बच्चो के लिए हर संभव सहायता राज्य सरकार करेगी और उनकी पढ़ाई के लिए कोई भी कसर नहीं छोड़ी जाएगी उन्होंने कहा की राज्य सरकार उत्तराखंड में हर वर्ग के लिए काम कर रही है। और गरीब तबके के लिए राज्य की भाजपा सरकार का विजन मजबूत है रेखा आर्य ने बाल निकेतन में मौजूद बच्चो के साथ कुछ पल बिता कर उनकी खुशी को और अधिक बड़ा दिया अपने बीच राज्य सरकार की मंत्री को पाकर बच्चे भी काफी खुश नज़र आ रहे थे।

अनाथ बच्चो के साथ पहली बार राज्य सरकार में मंत्री रेखा आर्य ने उनके बीच पहुंच कर उनको अपनों का होने का अहसास करवाया है 15 अगस्त को राज्य सरकार में राज्य मंत्री रेखा आर्य देहरादून के बाल निकेतन में पहुंची थी उनका ये प्रयास राज्य की भाजपा सरकार में एक अलग तरह की सोच को आगे ले जाने वाला नज़र आया।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments