राहुल का पीएम पर आरोप, नोटबंदी के जरिए अपनों को पहुंचाया फायदा

0
362

राहुल का पीएम पर आरोप, नोटबंदी के जरिए अपनों को पहुंचाया फायदा

नई दिल्ली कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने नोटबंदी पर सरकार और खासतौर पर पीएम नरेंद्र मोदी को घेरते हुए उनपर घोटाले का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि यह फैसला पूरी तरह से पीएम मोदी ने लिया था और इसकी आड़ में घोटाला किया गया है। राहुल गांधी ने कहा कि नोटबंदी के बारे में वित्त मंत्री को भी जानकारी नहीं थी। उन्होंने इसकी जेपीसी से जांच कराने की मांग की है।
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस की स्पष्ट सोच है कि इस मुद्दे पर बहस हो। लेकिन सवाल ये है कि क्या उन्हें बोलने का मौका मिलेगा। नोटबंदी को लेकर बसपा सुप्रिमो मायावती ने भी सरकार को अाड़े हाथों लिया है। उन्होंने लोकसभा स्पीकर पर उन्हें बोलने के लिए समय न देने का भी आरोप लगाया। उनका कहना था कि पीएम सब कुछ देख रहे हैं, लेकिन कुछ बोलते नहीं हैं।
मायावती का कहना है कि सरकार ने यह फैसला पूजीपतियों को लाभ पहुंचाने के मद्देनजर लिया है। देश की आम जनता से पीएम को कोई सरोकार नहीं है। उन्होंने इस बाबत राष्ट्रपति से हस्तक्षेप करने और आम जनता को राहत देने की भी अपील की है। उन्होंने यह भी कहा कि यदि पीएम ने एक अच्छा काम किया है तो सदन में आने में वह घबरा क्यों रहे हैं।

नोटबंदी पर विपक्ष लामबंद

नोटबंदी के खिलाफ विपक्ष लामबंद है। अलग-अलग दल के नेता संसद के बाहर सरकार के नोटबंदी के फैसले का विरोध कर रहे हैं। इसमें कांग्रेस समेत अन्य दलों के नेता भी शामिल हैं। संसद के शीतकालीन सत्र में भी इस मुद्दे पर जमकर हो-हल्ला हो रहा है। लगातार कई दिनों से इस मुद्दे पर दोनों ही सदन हो-हल्ले के चलते स्थगित हो रहे हैं। एक और जहां विपक्ष सरकार से इस फैसले को वापस लेने की मांग कर रहा है वहीं दूसरी ओर सरकार कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद से उनके बयान को लेकर माफी की मांग कर रही है हालांकि विपक्ष ने सत्र की शुरुआत में ही यह साफ कर दिया था कि वह इस मुद्दे को सदन में जोर-शोर से उठाएगी। वहीं सरकार ने भी इस मुद्दे पर चर्चा की बात स्वीकार की थी। लेकिन अब जबकि सत्र को शुरू हुए एक सप्ताह हो चुका है सरकार का विपक्ष पर आरोप लगा रही है कि वह चर्चा से भाग रहा है। खुद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने विपक्ष पर ऐसा आरोप लगाया है। वहीं विपक्ष लगातार सरकार पर आरोप लगाता रहा है कि सरकार ने यह फैसला बड़े पूजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए किया है। उनका यह भी आरोप है कि सरकार ने अपने चाहने वालों को इसकी जानकारी पहले ही दे दी थी।
सरकार और विपक्ष लगातार इस मुद्दे पर एक दूसरे को घेरने की कोशिश कर रहे हैं। सरकार की ओर से कहा गया है कि सरकार के इस कदम का स्वागत कर रहा है। पहली बार देश में ईमानदार का सम्मान हुआ है और बेईमान का नुकसान हुआ है। ईमानदार का पैसे नहीं डूबेगा। वह अपना पैसा 30 दिसंबर तक जमा करा सकता है। किसी भी महिला की बचत डूबने वाली नहीं है। यह भ्रम फैलाया जा रहा है कि लोगों का पैसा डूब जाएगा। नोटबंदी से सिर्फ बेइमान लोग परेशान है ईमानदार लोग नहीं। वहीं विपक्ष का आरोप है कि सरकार के इस फैसले ने ग्रामीण अर्थव्यवस्था की कमर तोड़कर रख दी है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments