ऑनलाइन सेक्स कारोबार एस्कॉर्ट्स

0
346

देहरादून। सेक्स रैकेट का धंधा मसाज पार्लर के नाम पर कई ऐसे लोग चला रहे है जिनका पुलिस आज तक कुछ नहीं कर पाई है देहरादून मंसूरी नाम से जस्ट डायल से लेकर एस्कॉर्ट्स साइट के नाम से कई ऐसी ऑनलाइन सेक्स रैकेट का संचालन करने वाली साइट उपलब्ध है जहा पर हर रात को हसीन बनाये जाने के लिए हर सामान उपलब्ध है जिसकी अपनी अलग अलग डिमांड के हिसाब से रेट फिक्स किये गए है सवाल ये है इस खबर के माध्यम से हम न तो ऐसे गैर क़ानूनी कारोबार किये जाने को उचित मानते है लेकिन सवाल ये है इतना सब कुछ ऑनलाइन होने के बाद भी देहरादून से लेकर मंसूरी तक आखिर कैसे ये कारोबार बेखौफ होकर चलाया जा रहा है क्या इस कारोबार की जानकारी पुलिस को नहीं है या फिर पुलिस इस कारोबार को किये जाने वाले लोगो के खिलाफ कारवाही किये जाने के लिए अपने कानून का खौफ उनका नहीं दिला पा रही है।

देहरादून से लेकर मंसूरी ऋषिकेश के साथ साथ पूरे उत्तराखंड में ऑनलाइन सेक्स का कारोबार किये जाने का धंदा बखूबी अंजाम दिया जा रहा है धर्म नगरी हरिद्वार में बीते दिन पुलिस ने ऐसे ही एक ऑनलाइन सेक्स के कारोबार करने वालो को पकड़ा है देहरादून पुलिस भी कुछ समय पहले इसी तरह के कारोबार को अंजाम देने वालो को पकड़ चुकी है लेकिन इसके भी ये कारोबार देवभूमि में हर महीने लाखो का धंदा अंजाम देकर इस कारोबार को चलाया जा रहा है।

ऑनलाइन सेक्स कारोबार को लेकर इस खबर के माध्यम से पुलिस को ऐसी ही कुछ ऑनलाइन सेक्स का कारोबार किये जाने वाली जानकारी उपलब्ध करवा रहे है ताकि उनके खिलाफ कारवाही किये जाने को देहरादून पुलिस अपनी कारवाही को अंजाम दे इसके आलावा देहरादून सहित जिन जगह पर ये कारोबार चलाया जा रहा है उसकी जानकारी आप भी अपने करीबी थाने में जाकर दे सकते है ताकि इस कारोबार को आसानी से खत्म किये जाने में पुलिस का साथ दिया जाना जरुरी है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सेक्स रैकेट का धंधा मसाज पार्लर के नाम पर चल रहा था। बाकायदा जस्ट डॉयल मोबाइल फोन एप पर आयशा मसाज पार्लर दर्शाया गया था।
रैकेट संचालिका दीपिका उर्फ अंजलि का मुख्य सहयोगी रविकांत शर्मा उर्फ आदित्य शर्मा ही डिलीवरी ब्वॉय था और तीन वर्ष पूर्व भी जिस्मफरोशी के धंधे का संचालन करने के आरोप में हरिद्वार कोतवाली पुलिस के हत्थे चढ़ा था।

ये खबर भी पढ़े:देहरादून में सेक्स का ऑनलाइन वीडियो

बृहस्पतिवार की देर रात मानव तस्करी दस्ते ने बहादराबाद के एक होटल से तीन लोगों को एक कॉलगर्ल के साथ पकड़ा था। इसके बाद सेक्स रैकेट के नेटवर्क का परत दर परत खुलासा हुआ था। दस्ते ने रैकेट संचालिका दीपिका उर्फ अंजलि, एक अन्य कॉलगर्ल को भी दबोच लिया था लेकिन दीपिका का मुख्य सहयोगी रविकांत उर्फ आदित्य शर्मा हाथ नहीं आ सका था।

उत्तराखंड में लगातार ये कारोबार अपनी कई जगह पर ऐसी लड़कियों को इस कारोबार में लाकर निशाना बना चूका है जो अपने मॅहगे शोक पूरे किये जाने के लिए इस कारोबार में ऐसे जगह तक पहुचायी जा चुकी है जहा से निकल पाना उनके के लिए इतना आसान नहीं रह गया है घर में कोई गरीबी तो कोई अपने शोक पूरे किये जाने के लिए इस कारोबार को कर रहा है तो कई लड़किया ऐसी भी है जो नशे के कारण इस कारोबार के दलदल में समां चुकी है पुलिस उत्तराखंड में कई ज़िलों में ऐसे ऑनलाइन सेक्स कारोबार का संचालन किये जाने वालो को पकड़ चुकी है लेकिन इसके बाद भी ऑनलाइन सेक्स का कारोबार अपनी जड़ देवभूमि में मजबूत करता नज़र आ रहा है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments