नोट बदलवाने में नाकामी की वजह से युवती ने लगाई फांसी

0
293

नोट बदलवाने में नाकामी की वजह से युवती ने लगाई फांसी

पूर्वी दिल्ली खजूरी खास इलाके में तीन दिन लाइन में लगने के बावजूद नोट बदलवाने में नाकाम रहने पर 22 वर्षीय युवती रिजवाना ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उसके पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। परिजनों का कहना है कि उसके कफन व कब्रिस्तान में पर्ची कटवाने के लिए भी घर में रुपये नहीं थे। इसका बंदोबस्त भी पड़ोसियों से चंदा लेकर किया गया। पुलिस पूरे प्रकरण की जांच में जुटी है कि परिजनों के इस आरोप में कितनी सच्चाई है। अधिकारियों का कहना है कि सिर्फ नोट बदलवाने में नाकामी की वजह से ऐसा नहीं हो सकता। रिजवाना मूल रूप से उत्तर प्रदेश के पूर्वी दिल्ली   बुलंदशहर जिले के खानपुर-भड़कऊं गांव की रहने वाली थी। वह अपने दो छोटे भाइयों के साथ खजूरी खास की गली नंबर-दो के मकान संख्या-ई-298 में रहती थी। मां जरीना गांव में रहती है। दो बड़ी बहनों गुलजार व रुकसाना की शादी हो चुकी है और वह पति के साथ यहां रहती थी। बड़ा भाई अंसार मुस्तफाबाद में रहता है। रिजवाना घर में ही कढ़ाई का काम करती थी और दोनों छोटे भाई मजदूरी करते हैं। परिजनों का कहना है कि बड़े नोट पर पाबंदी से परिवार में संकट आ गया था। रोजाना होने वाली कमाई बंद हो गई और जो नोट घर में पड़े थे, वह पांच सौ और एक हजार के थे। रिजवाना के जीजा मोहम्मद नासिर का कहना है कि रिजवाना के पास पुराने नोट वाले चार हजार रुपये थे। तीन दिन से वह उसे बदलवाने का प्रयास कर रही थी, लेकिन पूरे दिन लाइन में लगने के बाद भी उसे सफलता नहीं मिली। इससे हर बार नाकामी हाथ लग रही थी। घर में राशन भी नहीं था और कहीं से राशन व अन्य सामान उधार भी नहीं मिल रहा था। भाई अंसार ने बताया कि जब रविवार को भी नोट नहीं बदला गया तो वह बहुत परेशान हो गई थी। शाम 5 बजे वह पहली मंजिल स्थित अपने कमरे में गई और वहां उसने फांसी लगा ली। परिवार के सदस्य जब कुछ देर बाद उसके कमरे में पहुंचे तो उन्होंने उसे लटका देखा। उसे तुरंत नीचे उतार कर जीटीबी अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने सोमवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments