एन एच 74 घोटाले के नामो की लिस्ट जमीनों के काले कारोबारी

0
775

एन एच 74 घोटाले के नामो की लिस्ट जमीनों के काले कारोबारी 
Nh-74-Scam-Land-List-Uttarakhand-Farmer

देहरादून उत्तराखंड में नेशनल हाईवे में मुवावजा घोटाले को लेकर जिलाधिकारी ने एक दर्जन से अधिक सरकारी कर्मचारी पर कारवाही अंजाम दी है इस मामले की आग में अभी कई सफेदपोश सीबीआई की जकड में आएंगे जिन्होंने सड़क मुआवजे को लेकर जमीनों को गलत तरह से सरकारी धन को लिया है गदरपुर विधानसभा के भी कई राजनेता जिन में कांग्रेस और भाजपा दोनों ही राजनैतिक दलों के लोगो ने जमीनों के कारोबार में सरकारी धन पर करोड़ो का खेल खेला गया है यही वजह है अब कई ऐसे लोग अपनी राजनैतिक रसूख से अपने काले कारनामो पर पर्दा डालने का काम भी कर रहे है
बाजपुर से लेकर किच्छा,सितारगंज,खटीमा ,काशीपुर ,जशपुर में भी इस नेशनल हाईवे 74 घोटाले के तार जुड़े हुए है जमीनों के इस खेल में कई अधिकारी भी अपनी गर्दन बचाये जाने के लिए कोशिश कर रहे है लेकिन मामला सीबीआई के पास होने के कारण इस मामले पर राहत मिलने की कोशिश कम ही नज़र आ रही है
गदरपुर एनएच मुआवजा घोटाले में कार्रवाई का फंदा 16 और कर्मचारियों पर गिरा है। इनमें रजिस्ट्रार कानूनगो, राजस्व निरीक्षक, पेशकार, डाटा इंट्री ऑपरेटर और तीन सेवानिवृत्त राजस्व निरीक्षक शामिल हैं। रजिस्ट्रार कानूनगो, राजस्व निरीक्षक और पेशकार समेत कुल नौ कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है जबकि चार डाटा इंट्री ऑपरेटरों की सेवाएं समाप्त कर दी गई हैं।
सेवानिवृत्त तीन राजस्व निरीक्षकों को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं। इस कार्रवाई से हड़कंप मचा हुआ है। यह माना जा रहा है कि निलंबित और बर्खास्त कर्मचारियों की संख्या जल्द बढ़ सकती है।
एनएच 74 चौड़ीकरण की आड़ में हुए मुआवजा घोटाले ने प्रदेश को शर्मसार किया है। अब तक की जांच में सामने आए 250 करोड़ के इस घोटाले की जद में कई अधिकारी व कर्मचारी हैं। अभी तक सात पीसीएस अफसर निलंबित किए जा चुके हैं और कई जांच के दायरे में हैं। शासन ने इसकी जांच सीबीआइ से कराने की बात कही है।
जिन कर्मचारियों पर आज गाज गिरी है उनमें सितारगंज का राजस्व अहलमद संतराम, सितारगंज के ही रजिस्ट्रार कानूनगो हेमराज ङ्क्षसह चौहान, बाजपुर के रजिस्ट्रार कानूनगो पंकज कुमार, बाजपुर के ही राजस्व निरीक्षक कुंवर सिंह, एसडीएम सदर के पेशकार विकास, जसपुर के पेशकार सतपाल सिंहअनुज कुमार तथा सितारगंज के अरुण कुमार दुबे की सेवाएं समाप्त करने के निर्देश संबंधित एसडीएम को दिए गए हैं। इसके साथ ही सेवानिवृत्त राजस्व निरीक्षक कमालद्दीन, ओमप्रकाश, सेवानिवृत्त रीडर राम जगदीश राणा को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं। जसपुर के ही रजिस्ट्रार कानूनगो चंदपाल, जसपुर के संग्रह अमीन अनिल कुमार, काशीपुर के राजस्व अहलमद संजय कुमार चौहान निलंबित किया गया है।
जबकि संविदा पर तैनात गदरपुर की डाटा इंट्री ऑपरेटर अनुपमा रावत, काशीपुर के मनोज कुमार शामिल है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।