न्यूज़ चैनल टी वी 100 के देहरादून ऑफिस का हुआ शुभ आरम्भ

0
1314

न्यूज़ चैनल टी वी 100 के देहरादून ऑफिस का हुआ शुभ आरम्भ
बदरीनाथजी में मुस्लिम व्यक्ति द्वारा लिखे गीत का पाठ होता है
देहरादून प्रदेश के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने देहरादून में न्यूज़ चैनल टी वी 100 के कार्यालय का सुभारम्भ किया राज्य में देहरादून से ही अब न्यूज़ चैनल अपनी समाचारो पर पैनी नज़र रखेगा अब तक दिल्ली से इस न्यूज़ चैनल का चलाया जा रहा था न्यूज़ चैनल के कुलीन गुप्ता ने कहा की राज्य में न्यूज़ चैनल कई जगह पर चौपाल लगाकर जनता के बीच जायेगा जिस का असर आम जनता तक पहुंच सके इस के लिए नयी पहल की गयी है वही राज्य की जनता को किस तरह की सरकारी मदद मिल रही है इस पर भी न्यूज़ चैनल अपनी नज़र रखेगा यही नहीं जन चौपाल सरकार के कामों को लेकर भी जनता से फीड बैक लेगी
भड़ास फॉर इंडिया को मिली सरकारी जानकारी के अनुसार शनिवार को एक स्थानीय कार्यक्रम में प्रतिभाग करने के बाद मौके पर मौजूद मीडिया से अनौपचारिक बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि इस बार अर्धकुम्भ की व्यवस्थाओं पर श्रद्धालुओं से जिस प्रकार की सकारात्मक प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं, उससे हम बहुत उत्साहित हैं। हमने 10 करोड़ लोगों के आने की सम्भावना को ध्यान में रखते हुए व्यवस्थाएं की हैं। अपे्रल माह तक यह संख्या अवश्य पार कर जाएगी। हमारी यह भी कोशिश रही है कि अर्धकुम्भ में जो भी श्रद्धालु आएं वें क्षेत्र में दो तीन दिन अवश्य रहें। इसके लिए अतिरिक्त आकर्षण भी विकसित किया गया है। अर्धकुम्भ क्षेत्र के अंदर ही अंदर सुविधाओं को विस्तृत किया है। हिल बाई पास तैयार किया गया और कुम्भ क्षेत्र को देवप्रयाग तक बढ़ाया है। अगले कुम्भ में इसे और विस्तार किए जाने की सम्भावना देखेंगे। इस वर्ष केंद्र से अर्धकुम्भ के लिए अभी तक धन नहीं मिल पाया है। इस कारण एक दो घाट और निर्मित नहीं कर पाए नही ंतो एक और क्षेत्र इसमें शामिल हो जाता। इस अर्धकुम्भ में की गई व्यवस्थाएं आगे के पूर्ण कुम्भ में भी काम आएंगी। हम नीलधारा को विकसित करेंगे। हमें अब भी उम्मीद हैं कि केंद्र हमारी मदद करेगा। पहले ऐसा कहा गया था कि 164 करोड़ रूपए स्वीकृत कर दिए गए हैं परंतु अभी यह राशि वहां से अवमुक्त नहीं की गई है।
एनजीटी के निर्देशों के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि देश के पर्यावरण संरक्षण में उŸाराखण्ड का सबसे अधिक योगदान रहा है। हम अपने ग्रीन कवर को लगाताार बढ़ा रहे हैं। हम अपने सीमित संसाधनों के बावजूद जलसंवर्धन का काम कर रहे हैं। कुछ मंदिरों में वर्ग विशेष के लोगों के प्रवेश पर कथित रोक के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि उŸाराखण्ड में मंदिरों में दलितों के प्रवेश पर कहीं भी रोक नहीं है। यहां आपसी सदभाव की परम्परा रही है। यहां हिंदुओं के सबसे बडे केंद्र बदरीनाथ व केदारनाथ में प्रवेश से पहले लोगों की जाति व धर्म के बारे में पूछा नहीं जाता है। बदरीनाथजी में मुस्लिम व्यक्ति द्वारा लिखे गीत का पाठन होता है। मुख्यमंत्री ने इस बात पर दुख जताया कि कुछ लोग उŸाराखण्ड की आपसी सद्भाव की महान परम्परा को बताने के बजाय कथित गलत बातों का प्रचार करते हैं।
देहरादून में यातायात की व्यवस्था को सुधारे जाने के उपायों के संबंध में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि देहरादून में ऐसी स्थिति नहीं आई है कि ओड ईवन फार्मूला को अपनाया जाए। यहां छोटी-छोटी बातों को ध्यान में रख लिया जाए तो काफी राहत मिल सकती है। जिस प्रकार दिल्ली में धरना, प्रदर्शन के लिए जंतर मंतर को निश्चित किया गया है उसी प्रकार यहां भी एक क्षेत्र विशेष को इसके लिए चिन्हित किया जा सकता है। इसी प्रकार नगर परिक्रमा पूरे नगर की न होकर एक सीमित क्षेत्र तक भी किया जा सकता है। लोग इस बात का प्रयास करें कि जिस समय स्कूलों की छुट्टी होती है उस समय जहां तक सम्भव हो गाड़ी लेकर न निकलें।

bhadas4india देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल www.bhadas4india.com की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments