एन डी टी वी के पत्रकार दिनेश मानसेरा की किताब ” दाज्यू बोले

0
624

उत्तराखंड के दाजु का जवाब नहीं लिख डाली ” दाज्यू बोले
देहरादून उत्तराखंड के बेबाक पत्रकार ने रोजाना की बातो को लेकर एक किताब को तैयार कर लिया है इस किताब को जाने माने पत्रकार रविश कुमार हल्द्वानी में विमोचन करेंगे आगामी २३ जुलाई को होने वाले किताब के विमोचन पर कई पत्रकारों से लेकर राजनैतिक लोगो की नज़र लगी हुई है किताब के विमोचन में देश के जाने माने पत्रकार रविश कुमार,अजीत अंजुम भी शिरकत कर रहे है

“दिलचस्प अंदाज में वास्तविक जीवन की रोचक दास्तान “
वरिष्ठ पत्रकार दिनेश मानसेरा पिछले चार पांच बरस से फेसबुक पर लिख रहे है. दिलचस्प अंदाज में दाज्यू के बहाने कटाक्ष पढ़ कर मजा आता. दाज्यू का सशक्त किरदार स्मृति में रच-बस गया था. ऐसा लगता कि दाज्यू की नजर हम सब पर है. वह हमारे हावभाव, चालें, व्यवहारों पर कड़ी निगाह रख रहे हैं. दाज्यू वाले पोस्ट उनके प्रति उत्सुकता जगाते रहे. अब वह दाज्यू किताब की शक्ल में आ रहे हैं.
एक बार हल्द्वानी में एक परिचर्चा के दौरान दिनेश जी ने मुझसे पूछा था कि क्या ” दाज्यू बोले” को एक किताब में संकलित किया जा सकता है? मैंने उन्हें जवाब दिया था..”ये काम आपको बहुत पहले कर देना चाहिए था.”
.”दाज्यू बोले” दरअसल दिनेश का ही एक दूसरा रूप है जोकि वो अपने आसपास ,राह चलते, हो रही बातों को,घटनाओं को , बारीकी से समझता है ,पकड़ता है..और फिर उन्हें शब्दों में ढाल कर। हमारे सामने रख देता है..ये भी एक तरह का मनोविज्ञान है, यह हुनर है, जो किताबों से नहीं बल्कि तजुर्बे से आती है, पैनी नज़र से और अच्छी समझ से आती है..
हम सबकी जिंदगी में घटित होने वाली रोजमर्रा की घटनाओं, मानवीय व्यवहारो पर दिनेश ने चुटीले अंदाज में दाज्यू के बहाने लिखा है.
ये सब किस्से दिनेश के या हमारे आपके रोजमर्रा ज़िन्दगी के हिस्सा ही तो है..चुटीले अंदाज में.
“दाज्यू बोले.” .हमारी, आपकी ज़िन्दगी के किस्से हैं.किताब को लेकर लोगो में जहां क्रेज नज़र आ रहा है वही कई लोग इस किताब को लेने के लिए भी उत्सुक नज़र आए रहे है

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments