जिस दिन पैदा हुए उसी दिन तिवारी ने ली अंतिम सांस

0
724

देहरादून: विकास पुरुष के नाम से जाने जाने वाले उत्तराखंड के बड़े नेताओं में शुमार और यहां की राजनीति के अपने समय के भीष्म पितामह पंडित नारायण दत्त तिवारी का आज निधन हो गया है उनका निधन उसी दिन हुआ जिस दिन वह पैदा हुए थे उनके मरने और धरती पर आने की दोनों ही तारीख एक ही रही. ऐसा सुनने में बहुत ही कम ही आता है कि व्यक्ति जिस दिन दुनिया में आये वही तारीख उसकी दुनिया को अलविदा कहने की भी हो. उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य के मुख्यमंत्री से लेकर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद पर 5 साल तक शासन करने वाले नारायण दत्त तिवारी मूल रूप से उत्तराखंड के पदमपुरी के रहने वाले थे वह इससे पहले हैदराबाद के राज्यपाल पद पर भी रह चुके थे. उनके निधन का समाचार मिलते ही राजनीति जगत से लेकर हर जगह शोक की लहर दौड़ गई है.

आपको बता दें कि पंडित नारायण दत्त तिवारी एक ऐसे विकास पुरुष के नाम पर जाने जाते थे जिनका उत्तराखंड की राजनीति में कोई सानी नहीं था वह अकेले इस राज्य के ऐसे मुख्यमंत्री रहे जिन्होंने अपना 5 साल का कार्यकाल कांग्रेस की सरकार को चला कर किया. उत्तराखंड के 3 जिलों में लगाई गई सिडकुल आज भी बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध करवा रही हैं. नारायण दत्त तिवारी के निधन का समाचार मिलते ही उत्तराखंड से लेकर दिल्ली के बड़े नेताओं ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है. नारायण दत्त तिवारी वर्तमान में दिल्ली के मैक्स अस्पताल में भर्ती थे और पिछले लंबे समय से वह बीमार चल रहे थे. उनके निधन पर कई राजनीतिक लोगों ने अपनी शोक संवेदना व्यक्त की हैं. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पंडित नारायण दत्त तिवारी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है.

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।