उत्तराखंड में जमीनो का काला कारोबार कर रहा नंदी बैल

0
1570

उत्तराखंड में जमीनो का काला कारोबार कर रहा नंदी बैल
एस डी एम से लेकर कई सरकारी अधिकारी पेरोल पर
देहरादून प्रदेश में हरीश रावत सरकार की नाक के नीचे ये नंदी बैल सरकारी जमीनो पर अपनी दौलत की तिजोरी की बदौलत कई सरकारी अधिकारियो से लेकर प्रदेश के राजस्व विभाग के साथ साथ तहसील के कई कर्मचारी को अपनी पेरोल पर रख कर सरकार को करोड़ो का चूना लगा रहा है प्रदेश में एक तरफ सरकारी महकमा इस नंदी बैल की पेरोल पर काम कर रहा है जब की सरकार से हर महीने मोटी पगार लेने के बाद भी कई एस डी एम इस्तर के अधिकारी भी इस नंदी बैल की पेरोल पर अपनी हज़ारी सरकारी दरबार में न लगाकर नंदी बैल के दरबार में लगाते नज़र आते है यही नहीं कई सालो से ये नंदी बैल गरीबो के साथ साथ अनुसूचित जाति,बुक्सो की जमीनो को भी खुर्द बुर्द कर चूका है यही नहीं इस नंदी बैल की पहुंच सरकार के कई ऎसे लोगो से भी बताई जा रही है जो कही न कही मुख्यमंत्री हरीश रावत के दरबार में भी दरबारी बताये जाते है उन्ही की पहुंच का फायदा उठा कर ये नंदी बैल कई लोगो को सरकारी जमीन भी बेच चूका है यहाँ तक की इस नंदी बैल की पेरोल पर कई और विभाग भी अपनी कदम ताल करते नज़र आ रहे है सरकार के खजाने में भी करोड़ो का डाका डाल चूका नंदी बैल की पूरी कहानी इतनी भर है की कई बीगा जमीनो को डकार कर ये नंदी बैल अरबो की मौज काट चूका है यही नहीं मोके पर वर्तमान में सरकारी जमीनो के साथ साथ कई सिचाई विभाग की गुलो को भी बंद कर दिया गया है सवाल ये उठ रहा है प्रदेश में हरीश रावत के मुख्यमंत्री काल में इतना सब कुछ हो जाने के बाद भी इस नंदी बैल पर कोई कारवाही नहीं हो पायी है जो ये साबित कर रहा है की कही न कही ये इतना बड़ा घोटाला हो सकता है जिस की कल्पना भी नहीं की जा सकती है अगर इस मामले पर कारवाही नहीं हुई तो प्रदेश सरकार के लिए आगामी विधानसभा चुनावो में भाजपा को बड़ा मुद्दे के रूप लपका जा सकता है खबर है की सरकारी जो अधिकारी इस नंदी बैल की पेरोल पर काम कर रहे है और मोटी रकम वसूल चुके है क्यों की करीब ४०० बीघा जमीन का ये मामला अकेले नंदी बैल अंजाम नहीं दे सकता

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें bhadas4india@gmail.com पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Comments

comments